NDTV Khabar

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- भगवान कृष्ण और भगवान राम हमारे भी हैं

अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि भगवान राम और कृष्ण हमारे भी हैं. उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी सरकार समाजवादियों के काम का उद्घाटन कर रही है.

15 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- भगवान कृष्ण और भगवान राम हमारे भी हैं

अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. योगी सरकार के कामकाज पर भी अखिलेश यादव ने उठाए सवाल.
  2. अखिलेश यादव ने कहा- भगवान कृष्ण और भगवान राम हमारे भी हैं
  3. नफरत फैलाने में भाजपा के लोग होशियार होते हैं- अखिलेश
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की सियासत में भगवान राम के बाद अब श्रीकृष्ण का भी पदार्पण हो गया है.  इटावा में लगने वाली कृष्ण मूर्ति की खबर के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि भगवान राम और कृष्ण हमारे भी हैं. उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी सरकार समाजवादियों के काम का उद्घाटन कर रही है. बीते आठ माह में प्रदेश की भाजपा सरकार ने कोई काम नहीं किया है.

लखनऊ के एक होटल में शनिवार को एक मीडिया हाउस द्वारा 'तरक्की का नया नजरिया विजन 2022' विषय पर आयोजित समागम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हमने भगवान राम की कृपा से ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया था. मैंने कभी उद्घाटन नहीं किया. सपा के कार्यकाल में किए गए कार्यों का ही सरकार फिर से उद्घाटन कर रही है. अगर इस सरकार ने प्रदेश के लिए कुछ नया काम किया हो तो उन्हें जनता को बताना चाहिए.

यह भी पढ़ें - यूपी निकाय चुनाव में हार से साफ हो जाएगा बीजेपी की सत्ता से बेदखली का रास्ता : अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी सरकार ने इतनी योजनाएं लागू कीं, लेकिन आज की सरकार इसका क्रेडिट नहीं देती है. हमने मायावती को एक्सप्रेसवे का क्रेडिट दिया था. उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण और भगवान राम भी हमारे हैं. दोनों भगवान विष्णु के ही अवतार हैं. इटावा में लगने वाली कृष्ण मूर्ति के लिए सैफई महोत्सव समिति ने पैसा जुटाया है. 

मुस्लिम-यादव समीकरण के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि झगड़ा कराने में, नफरत फैलाने में भाजपा के लोग होशियार बहुत होते हैं और उनसे बेहतर 'दो फाड़' कोई नहीं कर सकता है, चाहे वह परिवार में या फिर किसी राजनीतिक दल में. आप बंगाल देख लो, गुजरात देख लो या फिर यूपी को ही ले लो, ऐसे अनेक उदाहरण आपको मिल जाएंगे. हिंदू-मुस्लिम या जाति के नाम पर अलगाव विभाजन उनसे (भाजपा) बेहतर कौन कर सकता है.

यह भी पढ़ें - मुख्यमंत्री रहते अखिलेश यादव ने विवेकाधीन कोष से बांटे 497 करोड़, सर्वाधिक रकम जियाउल हक के परिजनों को दी

अखिलेश ने नोटबंदी पर कहा कि नोटबंदी से अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है, बाजार ध्वस्त हुआ है. देश के पूर्व वित्तमंत्री भी नोटबंदी को गलत बता रहे हैं. जीएसटी पर अखिलेश ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि आप के पास एक्सपर्ट हैं फिर भी आप जीएसटी में संशोधन कर रहे हो. चुनाव जैसे-जैसे आएगा संशोधन पर संशोधन करोग. यहां बैठे कारोबारी शायद न बोलें, क्योंकि हो सकता है कि आयकर विभाग का नोटिस आ जाएगा. लेकिन कैमरे के पीछे सब स्वीकार करेंगे कि जीएसटी ने बाजार को गिरा दिया, अर्थव्यवस्था चौपट हो गई.

VIDEO - सीएम योगी पर अखिलेश का निशाना
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement