अखिलेश यादव ने कहा- आज जो कश्मीरियों के साथ हो रहा है, वह कल हमारे साथ भी होगा

अखिलेश यादव ने अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के सूरत-ए-हाल पर चिंता जाहिर करते हुए सोमवार को कहा कि आज जो कश्मीरियों के साथ हुआ है, वह कल हम सबके साथ होगा.

अखिलेश यादव ने कहा- आज जो कश्मीरियों के साथ हो रहा है, वह कल हमारे साथ भी होगा

अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  • जम्मू-कश्मीर के हालात पर अखिलेश यादव ने जताई चिंता
  • कहा- आज जो कश्मीरियों के साथ हो रहा वो कल हमारे साथ भी होगा
  • 'आज 20 दिन से ज्यादा हो गये, लोग घरों में कैद हैं'
यूपी:

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के सूरत-ए-हाल पर चिंता जाहिर करते हुए सोमवार को कहा कि आज जो कश्मीरियों के साथ हुआ है, वह कल हम सबके साथ होगा. अखिलेश (Akhilesh Yadav) ने संवाददाता सम्मेलन में अनुच्छेद 370 से जुड़े एक सवाल पर कहा 'आज 20 दिन से ज्यादा हो गये, लोग घरों में कैद हैं. पत्रकार हमें बताएं कि आखिर वहां क्या हो रहा है? सरकार का इतना ही अच्छा फैसला था तो उसने इसे लेने से पहले लोगों से क्यों नहीं पूछा?'

सपा के साथ गठबंधन पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी 27 अगस्त को फैसला करेगी

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कश्मीर के सूरत-ए-हाल को लेकर तंज करते हुए कहा 'अनुच्छेद 370 हटाने का मुद्दा भाजपा के घोषणापत्र में था. क्या (इसे हटाने को लेकर) वहां के लोगों में वही खुशी है जो उन्होंने सड़कों पर मनायी. जो उनके साथ हुआ है वह कल हमारे-आपके साथ भी होगा.' गौरतलब है कि आजमगढ़ से सांसद अखिलेश ने अनुच्छेद 370 हटाये जाने के औचित्य पर लोकसभा में भी सवाल उठाये थे.

वहीं दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस व अन्य पार्टियों के नेताओं ने बिना अनुमति के जम्मू एवं कश्मीर जाकर केंद्र सरकार और प्रदेश के राज्यपाल को राजनीति करने का मौका दे दिया है. उन्होंने ट्वीट मे कहा, "राज्य के हालात अभी ठीक नहीं हैं, ऐसे में हाल ही में बिना अनुमति के कांग्रेस व अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं का कश्मीर दौरा करना, राज्यपाल और केंद्र को राजनीति करने का मौका देने जैसा है. वहां की यात्रा पर जाने से पहले थोड़ा विचार विमर्श कर लिया जाता तो उचित होता."

अखिलेश और ओमप्रकाश राजभर की मुलाकात से राजनीति कयासबाजी तेज

मायावती ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि देश में संविधान लागू होने के लगभग 69 वर्षों के उपरान्त 370 को रद्द किया गया है. बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट किया, "सभी जानते हैं कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर हमेशा से ही देश की समानता, एकता और अखंडता के पक्षधर रहे. वह जम्मू एवं कश्मीर को अनुच्छेद 370 के द्वारा विशेष प्रावधान दिए जाने के पक्ष में नहीं थे." मायावती ने कहा कि इसी वजह से बसपा ने संसद में इसे रद्द किए जाने का समर्थन किया. 

उन्होंने कहा कि शीर्ष न्यायालय का भी यही मानना है कि ऐसी परिस्थित में थोड़ा इंतजार किया जाए तो बेहतर होगा.

सीएम योगी की सिफारिश पर ओपी राजभर को राज्यपाल ने मंत्रिमंडल से किया बर्खास्त​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com