NDTV Khabar

भाजपा सरकार ‘ऐतिहासिक गिरावटों’ का कीर्तिमान बनाएगी: अखिलेश यादव

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'भाजपा की सरकार आज़ाद भारत के इतिहास में कई ‘ऐतिहासिक गिरावटों’ का कीर्तिमान स्थापित करके जाएगी.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भाजपा सरकार ‘ऐतिहासिक गिरावटों’ का कीर्तिमान बनाएगी: अखिलेश यादव

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. भाजपा सरकार 'ऐतिहासिक गिरावटों' का कीर्तिमान स्थापित करके जाएगी
  2. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर साधा बीजेपी पर निशाना साधा
  3. इससे पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने भी साधा मोदी सरकार पर निशाना
लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि भाजपा सरकार 'ऐतिहासिक गिरावटों' का कीर्तिमान स्थापित करके जाएगी. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'भाजपा की सरकार आज़ाद भारत के इतिहास में कई ‘ऐतिहासिक गिरावटों' का कीर्तिमान स्थापित करके जाएगी.' उन्होंने कहा, 'आर्थिक क्षेत्र में जीडीपी की गिरावट, सामाजिक क्षेत्र में सौहार्द की गिरावट, राजनीति में सत्ताधारियों की नैतिकता की गिरावट व मानसिक क्षेत्र में उम्मीदों की गिरावट.' उल्लेखनीय है कि कानून व्यवस्था और आर्थिक मोर्चे पर अखिलेश भाजपा सरकार को लगातार घेरते आए हैं.

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार पर बरसे अशोक गहलोत, बोले- सरकार पूरी तरह फेल

इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देश में आर्थिक वृद्धि दर में गिरावट को लेकर मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह विफल करार देते हुए शनिवार को पूछा कि यह आर्थिक मंदी नहीं तो क्या है? गहलोत ने ट्वीट किया है, ''मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी वृद्धि दर घटकर 4.5 प्रतिशत रह गयी जो कि बीते छह साल में निचले स्तर पर है. लगातार पांचवीं तिमाही में इस तरह की गिरावट दर्ज की गयी है.'' गहलोत ने हैशटैग ''जीडीपी के बुरे दिन'' के साथ लिखा है, “अगर यह आर्थिक मंदी नहीं तो यह क्या है.” 


उत्तर प्रदेश में 'मिड डे मील' में भ्रष्टाचार की तस्वीर, 1 लीटर दूध में पानी मिलाकर 85 बच्चों को पिलाया!

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने शुक्रवार को वृद्धि दर संबंधी आंकड़े जारी किए जिनके अनुसार जुलाई-सितंबर की दूसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर घटकर 4.5 प्रतिशत रह गयी. गहलोत ने लिखा है, “एनडीए सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले छह महीनों को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह विफलता के रूप में परिभाषित किया जा सकता है. जीडीपी नीचे आ रही है, अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में गिरावट है, ग्रामीण अर्थव्यवस्था तबाह कर दी गयी और बेरोजगारी बढ़ रही है. उससे भी बदतर यह है कि वे यह मान ही नहीं रहे कि उनकी गलत नीतियां अर्थव्यवस्था को कैसे नष्ट कर रही हैं.” 

टिप्पणियां

VIDEO: दूसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 4.2 प्रतिशत रहने का अनुमान: SBI



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement