NDTV Khabar

'वर्दी का गुरूर' दूर करने के लिए यूपी में सोमवार से सिपाहियों को बड़े अधिकारी देंगे ट्रेनिंग

गौरतलब है कि विवेक तिवारी हत्याकांड से पहले  भी पुलिस कई वजहों से बदनाम रही है. एंटी रोमियो मुहिम में ही पुलिस ने कई लोगों की खुलेआम बेइज्जती की, नोएडा में एक सब-इंन्सपेक्टर ने फर्जी एनकाउंटर में जिम ट्रेनर को गोली मार दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'वर्दी का गुरूर' दूर करने के लिए यूपी में सोमवार से सिपाहियों को बड़े अधिकारी देंगे ट्रेनिंग

विवेक तिवारी हत्याकांड के आरोपी के पक्ष में कई पुलिसकर्मी प्रदर्शन कर रहे हैं.

खास बातें

  1. बड़े अधिकारी देंगे ट्रेनिंग
  2. एडीजी ने तैयार किया है कोर्स
  3. डीजीपी भी देंगे लेक्चर
लखनऊ: लखनऊ में एपल के मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड के बाद उत्तर प्रदेश डीजीपी ने पूरी राज्य में सिपाहियों की विशेष ट्रेनिंग करवाने का फैसला किया है. इसमें उन्हें वर्दी का गरुर दूर करने के साथ लोगों से पेश आने के तौर-तरीके सिखाए जाएंगे. ट्रेनिंग सोमवार से लखनऊ में शुरू होगी. पहले चरण में 6 हजार सिपाही शामिल होंगे. गौरतलब है कि लखनऊ में विवेक तिवारी को पुलिस के एक कांस्टेबल ने इसलिए गोली मार दी थी क्योंकि उन्होंने उसके कहने पर अपनी कार नहीं रोकी थी. इस घटना के बाद से उत्तर प्रदेश पुलिस की छवि पर गहरा धक्का लगा है साथ ही योगी सरकार की भी अच्छी-खासी किरकिरी हुई. इस मुद्दे पर डीजीपी ओपी सिंह से सवाल पूछा गया कि आपको क्या लगता है कि अगर पुलिस की बेहतर ट्रेनिंग हुई होती को विवेक तिवारी के साथ जो हुआ वह नहीं होता? इस पर डीजीपी ने जवाब दिया, 'हां सही बात है, मैं यह मानता हूं कि कैसे पुलिस को किसी कार या वाहन को रोकना है. कैसे उसे सर्च करना है. हमारा टैक्टिकल ऑपरेशन क्या होगा. इन सब चीजों का ध्यान रखना जरूरी है. हमारा उस समय मूवमेंट और ध्यान में होगा, हमारी ट्रेनिंग का हिस्सा होगा.

एप्पल के एरिया मैनेजर विवेक को पुलिसकर्मियों ने मारी गोली,अब तक ये 15 बातें आईं सामने

गौरतलब है कि विवेक तिवारी हत्याकांड से पहले  भी पुलिस कई वजहों से बदनाम रही है. एंटी रोमियो मुहिम में ही पुलिस ने कई लोगों की खुलेआम बेइज्जती की, नोएडा में एक सब-इंन्सपेक्टर ने फर्जी एनकाउंटर में जिम ट्रेनर को गोली मार दी, मुरादाबाद में थाने के अंदर प्रेमी जोड़े की पिटाई कर दी, हापुड़ में मॉब लिचिंग में संवेदनहीनता दिखाई, अलीगढ़ में लाइव एन्काउंटर शूट किया गया और मेरठ में एक छात्र को इसलिए पीटा गया क्योंकि उसकी दोस्त किसी दूसरे धर्म की थी. 

यूपी के DGP ने बताया- विवेक तिवारी हत्याकांड के पीछे पुलिसकर्मियों की यह कमी भी जिम्मेदार

इन सवालों पर डीजीपी ओपी सिंह ने भी माना कि अगर कोई पुलिसकर्मी ऐसी सोच रखता है तो वह हमारे लिए बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.  उन्होंने कहा कि मेरठ जैसी और भी घटनाएं हो सकती हैं, इसलिए इन जैसे सभी मुद्दों पर, धर्म निरपेक्षता पर, संविधान-कानून के बारे में जानकारी दें ताकि उनका माइंडसेट बदल सके.  उन्होंने बताया कि सोमवार से लखनऊ में एडीजी राजीव कृष्णा ट्रेनिंग कराएंगे जिन्होंने खुद कोर्स तैयार किया है. ओपी सिंह ने कहा कि वह खुद इसमें स्वयं लेक्टर देंगे. करीब 20 बैच चलाए जाएंगे. इसमें आईजी, एसएसपी, एडिश्ननल एसपी और सीओ वो सब इसमें लेक्चर देंगे.

लखनऊ पुलिस की गोली से मरे विवेक तिवारी की बीवी को क्यों बना रहे 'विलेन' ?

टिप्पणियां
ट्रेनिंग के दौरान, मॉब लिचिंग के हालात में उनकी ट्रेनिंग, उनका सोशल मीडिया पर व्यवहार, जनता से बर्ताव, सांप्रदायिक तनाव की स्थिति में उनका कर्तव्य और व्यवहार, वर्दी का गुरूर का छोड़कर प्रोफेशनल तरीके से काम, महिलाओं का सम्मान करना, दोस्त या प्रेमी युवक और युवती को अपराधी न समझना जैसे विषय शामिल हैं.

विवेक तिवारी हत्याकांडः हत्यारोपी सिपाही के पक्ष में लिखने वाले पुलिसवालों पर एक्शन शुरू, सिपाही निलंबित


विवेक तिवारी हत्याकांडः अब यूपी पुलिस को मिलेगी ट्रेनिंग​

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement