NDTV Khabar

एनकाउंटर से डरे अपराधी को यूपी पुलिस इंस्पेक्टर की सलाह, BJP विधायक से मिलकर मामला मैनेज करो

इन मुठभेड़ों पर सवाल भी उठते रहे हैं लेकिन इसके बावजूद योगी आदित्यनाथ सरकार ने कहा है कि ये एनकाउंटर जारी रहेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एनकाउंटर से डरे अपराधी को यूपी पुलिस इंस्पेक्टर की सलाह, BJP विधायक से मिलकर मामला मैनेज करो

इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है

लखनऊ: पिछले एक साल में उत्तर प्रदेश में एक हज़ार से ज़्यादा मुठभेड़ हो चुकी हैं, जिसमें 50 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं. इन मुठभेड़ों पर सवाल भी उठते रहे हैं लेकिन इसके बावजूद योगी आदित्यनाथ सरकार ने कहा है कि ये एनकाउंटर जारी रहेंगे. अब झांसी ज़िले के एक शातिर अपराधी ने एक ऑडियो क्लिप जारी की है जिसमें एक इंस्पेक्टर उसको सलाह देते सुना जा सकता है कि उसका नाम मुठभेड़ की हिटलिस्ट में सबसे ऊपर है. ऑडियो सामने आने के बाद इंस्पेक्टर को अब सस्पेंड कर दिया गया है.

यूपी का एक ऐसा पुलिस स्टेशन जहां पर हिस्ट्रीशीटर सोने के लिए आते हैं!

निलंबित पुलिस का इंस्पेक्टर का नाम सुनीत कुमार है जो  हत्या, अपहरण और जबरन वसूली के कई मामलों के अपराधी लेखराज यादव को सलाह दे रहा है कि वो बीजेपी के विधायक और पार्टी के ज़िला अध्यक्ष से मिल कर मामला निपटा ले.  लेखराज ने ये बातचीत शुक्रवार को रिकॉर्ड की, इसके कुछ ही देर बाद एक मुठभेड़ भी हुई पर लेखराज भागने में कामयाब रहा, जिसके बाद उसने ये रिकॉर्डिंग पत्रकारों तक पहुंचाई है. 


ऑडियो में हुई बातचीत का ब्यौरा

अपराधी लेखराज यादव:  मदद करो यार मदद करो 

इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह: आप मेरी मजबूरी समझिए...ठीक.. मैंने आपको बता दिया...संजय दुबे ज़िला अध्यक्ष, राजीव सिंह परीछा- दो आदमियों को मैनज कर लीजिए.

अपराधी लेखराज यादव: अरे सुनीत सिंह किसी से कम है क्या.

टिप्पणियां
इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह: अरे नहीं... आप मेरी बात सुनिए... मेरी बात सुनिए प्लीज़... ग़लत काम कहीं कुछ नहीं होता है. पिछले 14 साल में भाजपा से पहले कितने एनकाउंटर हुए ज़िले, प्रदेश भर में? नहीं हुए... बसपा आई, सपा आई सब. अब सिस्टम चल रहा है. आप समझ ही नहीं रहे कोई चीज़ को. ये दौर है. अब दौर तो दौर ही होता है ना सर..अब सिस्टम ऊपर से है. यहां नीचे ऊपर सब एसटीएफ़ भी है. सब लगे हैं पूरी टीम है. आपकी लोकेशन ट्रेस आउट हो रही है और 10-20-50 आदमी भी अगर आपके साथ होंगे तो कोई बड़ी बात नहीं है.
 
अपराधी लेखराज यादव: अरे मुझे मरना थोड़ी है यार...

इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह : अरे जो भी मामला है उसे देख दिखाकर, जो भी कर सकते हो जैसे भी मैनेज कर लो. लंबी पंचायत फंसेगी फिर.. फिर हम भी कुछ नहीं कर पाएंगे.
वीडियो : ये रहा पूरा ऑडियो 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement