लखनऊ रेलवे स्टेशन पर केले बेचने पर लगाया गया बैन, नहीं मानने पर होगा जुर्माना, जानें क्या है वजह

शासन ने इस बात की भी चेतावनी दी है कि यदि कोई इस नियम को तोड़ते हुए पाया जाएगा तो उसे जुर्माने सहित सख्त कार्रवाई का भी सामना करना होगा.

लखनऊ रेलवे स्टेशन पर केले बेचने पर लगाया गया बैन, नहीं मानने पर होगा जुर्माना, जानें क्या है वजह

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  • रेलवे प्रशासन ने किया फैसला
  • स्टेशन पर सफाई रखने के लिए दिए आदेश
  • नहीं मानने पर होगा जुर्मान
लखनऊ:

लखनऊ में रेलवे अधिकारी केले से अधिक प्राथमिकता सफाई को देते नजर आ रहे हैं क्योंकि उनका ऐसा मानना है कि केले के छिलकों से गंदगी फैलती है और इसी के चलते रेलवे प्रशासन ने यहां चारबाग रेलवे स्टेशन पर फल की बिक्री पर रोक लगा दी है. प्रशासन ने इस बात की भी चेतावनी दी है कि यदि कोई इस नियम को तोड़ते हुए पाया जाएगा तो उसे जुर्माने सहित सख्त कार्रवाई का भी सामना करना होगा. हालांकि विक्रेता और यात्री इस कदम से खुश नहीं दिखाई दे रहे हैं.

चारबाग स्टेशन पर एक विक्रेता ने कहा, 'मैंने पिछले 5-6 दिनों से केले की बिक्री नहीं की है. प्रशासन ने इसकी बिक्री पर रोक लगा दी है. पहले गरीब लोग केले की खरीदारी करते थे क्योंकि अधिकतर अन्य फल महंगे होते हैं.'

Viral Video बनाने के लिए शख्स ने रेलवे ट्रेक पर रख दिया गैस सिलेंडर, पुलिस ने किया फिर ऐसा

लखनऊ और कानपुर के बीच रोजाना रेलवे सफर करने वाले अरविंद नागर ने कहा, "केले सबसे सस्ते, स्वास्थ्यवर्धक और सुरक्षित फल हैं जिसका उपयोग कोई सफर के दौरान कर सकता है. यह कहना बेतुका है कि केले से गंदगी फैलती है. यदि यह सच है कि शौचालयों में भी प्रतिबंध लगा देना चाहिए क्योंकि सबसे ज्यादा गंदगी वहीं पैदा होती है. पानी की बोतलों और पैक किए हुए स्नैक्स पर भी प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा कि केले के छिलके जैविक होते हैं और यह पर्यावरण के लिए नुकसानरहित होते हैं बल्कि इसके अलावा यह गरीबों के लिए पोषण का एक सस्ता स्रोत है.

देश के 3000 रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई फाई, पिछले 15 दिनों के भीतर हुआ ये कारनामा



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)