NDTV Khabar

नोएडा: बैंकों ने उठाई आम्रपाली बिल्डर्स की संपत्ति कुर्क करने की मांग

बैंकों और नोएडा प्राधिकरण के बकाये को लेकर आम्रपाली ग्रुप की परेशानी बढ़ती ही जा रही है.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोएडा: बैंकों ने उठाई आम्रपाली बिल्डर्स की संपत्ति कुर्क करने की मांग

आम्रपाली की विभिन्न बैंकों और नोएडा अथारिटी को मिलाकर 1000 करोड़ से भी ज़्यादा की देनदारी है

खास बातें

  1. आम्रपाली बिल्डर्स पर बैंकों का 1000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज
  2. वेलफेयर मनी नहीं जमा कराने पर गिरफ्तार हो चुके हैं ग्रुप के अधिकारी
  3. वेलफेयर सेस की रकम बढ़ते-बढ़ते 4 करोड़, 29 लाख तक पहुंच गई
नोएडा: देश के कुछ बड़े बिल्डरों में से एक आम्रपाली बिल्डर्स समूह के ख़िलाफ़ बक़ाएदार बैंकों ने मुक़द्दमा दायर कर आम्रपाली की कई संपत्तियों की कुर्की कराने की मांग की है. नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल गुरुवार को ऐसे 6 मुकद्दमों की सुनवाई करेगा. आम्रपाली बिल्डर्स को पूरे गौतमबुद्ध नगर में 40 हज़ार से भी ज्यादा लोगों को उनके फ़्लैट देने हैं. ऐसे में आम्रपाली ग्रुप की मुश्किलें और बढ़ गई हैं.

यह भी पढ़ें: सवा चार करोड़ रुपये का लेबर सेस जमा करने पर आम्रपाली ग्रुप के सीईओ और डायरेक्टर रिहा

कॉरपोरेशन बैंक 18 अगस्त को नोएडा के सेक्टर-62 में आम्रपाली के कॉरपोरेट टावर-2 की नीलामी कर रहा है. आम्रपाली की कॉरपोरेशन बैंक पर लगभग 9 करोड़, 10 लाख रुपये की देनदारी है. इसके अलावा कई और संपत्तियों की कुर्की को लेकर बैंक आम्रपाली के ख़िलाफ़ कोर्ट मे हैं.
 
यह भी पढ़ें: बिल्‍डरों के खिलाफ नहीं थम रहा प्रदर्शन, खरीदारों का सवाल-हमारा फ़्लैट कब मिलेगा?

बैंकों ने जिन संपत्तियों की कुर्की को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाया है, उनमें आम्रपाली सिलिकन वैली प्राइवेट लिमिटेड, अल्ट्राहोम कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, अम्रपाली इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड आदि शामिल हैं. आम्रपाली की विभिन्न बैंकों और नोएडा अथारिटी को मिलाकर कुल 1000 करोड़ से भी ज़्यादा की देनदारी है.

आम्रपाली ग्रुप के निदेशक अजय कुमार का कहना है कि अभी उनकी बैंकों से बात चल रही है. घबराने की बात नहीं है. हम कहीं नहीं भाग रहे हैं. हमे सिर्फ़ समय चाहिए. खरीददार हमसे नाराज़ हैं पर उन्हें हम पर भरोसा करना होगा.
बैंक तो कहीं ना कहीं नीलामी कर अपना पैसा वसूल लेंगे, लेकिन सवाल यही रहता है कि किराए और किश्त का बोझ झेल रहे ख़रीदारों को घर कैसे मिलेगा.

VIDEO: आम्रपाली बिल्डर्स पर कसा शिकंजा
फ्लैट्स बॉयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अभिषेक कुमार का कहना है कि ये भागेंगे नहीं तो बताएं कि हमें फ़्लैट कैसे देंगे, कहां है इनके पास पैसा और कब देंगे घर? हमें 10 साल हो गए इंतज़ार करते हुए. नोएडा प्राधिकरण की देनदारी की वजह से आम्रपाली के तैयार प्रोजेक्ट्स में घरों की रजिस्ट्री नहीं हो पा रही है. ऐसे में ख़रीददारों का भरोसा जीतने के लिए आम्रपाली को बहुत कुछ और करने की ज़रूरत है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement