क्या अब 'आगरा' भी हो जाएगा 'अग्रवाल'? मुजफ्फरनगर के बाद अब ताजनगरी के नाम बदलने की भी मांग

मुगलसराय, इलाहाबादा, फैजाबादा आदि के नाम बदलने के बाद भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार चुप बैठने वाली नहीं दिख रही है.

क्या अब 'आगरा' भी हो जाएगा 'अग्रवाल'? मुजफ्फरनगर के बाद अब ताजनगरी के नाम बदलने की भी मांग

ताजमहल (फाइल फोटो)

लखनऊ:

मुगलसराय, इलाहाबादा, फैजाबादा आदि के नाम बदलने के बाद भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार चुप बैठने वाली नहीं दिख रही है. ऐसे संकेत हैं कि अभी यूपी के ऐसे तमाम शहर हैं, जिनके नाम बदले जाएंगे और जिन नामों को बदलने के कायास लगाए जा रहे हैं, उनमें मुजफ्फरनगर और आगरा शहर का नाम टॉप में है. दरअसल, इलाहाबाद का प्रयागराज और फैजबादा का नाम अयोध्या रखने के बाद योगी आदित्यनाथ की अगुआई वाली सरकार की ओर से कई शहरों के नाम बदलने की सुगबुगाहट तेज हो गई है. ताजा मामले में बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने आगरा शहर को लेकर मांग की है कि आगरा को 'आगरावन' या 'अग्रवाल' नाम किया जाए. 

औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने पर अड़ी शिवसेना, महाराष्ट्र सरकार से की यह मांग

दरअसल, बीजेपी वाले ताजमहल को एक राजपूत राजा का बनवाया शिवमंदिर कहते हैं. और अब मांग कर रहे हैं कि आगरा का नाम बदल कर अग्रवाल कर दिया जाए क्योंकि यहां अग्रवाल समुदाय के लोग ज्यादा रहते हैं. आगरा उत्तरी से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को खत लिखकर यह मांग की है. 

बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग का कहना है कि आगरा का कोई महत्व नहीं है. आगरा को कहीं चेक कर के देख लीजिए. क्या महत्व है? कुछ भी नहीं है. पहले यहां बहुत वन थे. अग्रवालों का निवास था. और आज भी अग्रवालों की राजधानी है आगरा. यहां अग्रवाल समुदाय के लोग अधिक रहते हैं. तो इसका नाम आगरावन या अग्रवाल होना चाहिए. 
अयोध्या में दीपोत्सव: फैजाबाद का नाम अब अयोध्‍या होगा, योगी आदित्‍यनाथ ने किया ऐलान

इतना ही नहीं, यूपी के मुजफ्फरनगर का बदलने को लेकर भी बीजेपी विधायक संगीत सोम ने आवाज बुलंद कर दी है. शुक्रवार को उन्होंने कहा कि 'अभी तो बहुत शहरों के नाम बदले जाने हैं. मुजफ्फरनगर का नाम बदलकर लक्ष्मीनगर लोगों की पहले से ही मांग है. मुजफ्फरनगर नाम एक नवाब मुजफ्फर अली ने किया था. लोगों की सदियों से मांग है कि इसका नाम लक्ष्मीनगर किया जाए.'

औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने पर अड़ी शिवसेना, महाराष्ट्र सरकार से की यह मांग

Newsbeep

उन्होंने आगे कहा, “मुगलों ने यहां की संस्कृति को मिटाने का काम किया है. खासतौर से हिंदुत्व को मिटाने का काम किया है. हमलोग उस संस्कृति को बचाने के लिए काम कर रहे हैं. बीजेपी उसपे आगे बढ़ेगी.” इससे पहले बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने शिवसेना ने औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव करने की मांग की है. बता दें कि इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद शहर का नाम बदले जाने की बात आई थी. माना जा रहा है कि गुजरात सरकार अहमदाबाद का नाम कर्णावती रखने पर विचार कर रही है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रणनीति इंट्रो: अयोध्या में बड़े-बड़े एलान, बदल गया नाम