NDTV Khabar

अखिलेश से 'दोस्ती' नहीं तोड़ेंगी मायावती, लेकिन दिया यह संदेश

उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए राज्यसभा चुनाव में सीट गंवाने के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने साफ कर दिया है कि यूपी में होने वाले अगले उपचुनाओं में वह अपने कार्यकर्ताओं को सक्रिय नहीं करेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अखिलेश से 'दोस्ती' नहीं तोड़ेंगी मायावती, लेकिन दिया यह संदेश

बसपा प्रमुख मायावती. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. उपचुनाओं में मायावती अपने कार्यकर्ताओं को सक्रिय नहीं करेंगी
  2. मोदी को 2019 में केंद्र में आने से रोकने के लिए सपा से दोस्ती जारी रहेगी
  3. उत्तर प्रदेश के कैराना और नूरपुर में होने हैं उपचुनाव
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए लोकसभा उपचुनावों में सपा-बसपा गठजोड़ को जबर्दस्त सफलता मिली थी. गोरखपुर और फूलपुर में हुए उपचुनाओं के लिए दोनों में गठजोड़ हुआ था. इन दोनों सीटों पर इस गठजोड़ को जीत भी मिली थी. इसके बाद अगले चुनावों में सपा-बसपा गठबंधन से भाजपा को शिकस्त देने का ख्वाब पाल रहे अखिलेश यादव को बसपा प्रमुख मायावती ने झटका दे दिया है. हालांकि उन्होंने कहा है कि भाजपा को 2019 में केंद्र में आने से रोकने के लिए सपा से दोस्ती जारी रहेगी. 

यह भी पढ़ें : अखिलेश कम अनुभवी, मैं उनकी जगह होती तो बसपा के प्रत्याशी को जिताने की कोशिश करती : मायावती

उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए राज्यसभा चुनाव में सीट गंवाने के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने साफ कर दिया है कि यूपी में होने वाले अगले उपचुनाओं में वह अपने कार्यकर्ताओं को सक्रिय नहीं करेंगी. बता दें कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सीट कैराना और विधानसभा की सीट नूरपुर में उपचुनाव होने हैं.


यह भी पढ़ें : मायावती और ममता बनर्जी का मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा
​ 
बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान करते हुए कहा कि बसपा किसी भी उपचुनाव में सक्रिय रूप से भाग नहीं लेगी. बसपा सूत्रों ने बताया कि मायावती ने कहा है कि अगले लोकसभा चुनाव में अब ज्यादा वक्त नहीं रह गया है. अब पार्टी का पूरा ध्यान चुनाव तैयारियों पर होना चाहिए. बसपा फूलपुर और गोरखपुर की तरह किसी भी उपचुनाव में सक्रियता से भाग नहीं लेगी.

VIDEO : 2019 के लिए बसपा प्रमुख मायावती का बड़ा ऐलान

टिप्पणियां

पार्टी नेताओं के लिए अगले लोकसभा चुनावों का लक्ष्य तय करते हुए उन्होंने कहा कि बसपा सर्व समाज में अपना आधार मजबूत करने में पूरी ताकत लगाएगी. उन्होंने कहा कि भाजपा को 2019 में केंद्र में आने से रोकने के लिए सपा से दोस्ती जारी रहेगी.

(इनपुट : भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement