पुलिसिया जुर्म फिर वायरल: CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, देखें VIDEO

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना मंगलवार दोपहर की है. शुरुआत में करीब 150 महिलाएं प्रदर्शन में थीं, लेकिन रात होते होते यह संख्या 500 तक पहुंच गई.

लखनऊ:

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में प्रदर्शन कर रही महिलाओं को यूपी पुलिस ने दौड़ाया और फिर पिटाई की. इस घटना का मोबाइल फुटेज मिला है. इस दौरान पुलिस दुकानों में घुसी और जबरन दुकानें बंद करवाई. वीडियो क्लिप में पचरहा इलाके के पुलिस द्वारा संकरी गलियों में महिलाओं का पीछा करते हुए देखा जा सकता है. प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए पुलिस ने महिलाओं पर लाठियां बरसाईं. 

17 सेकंड के वीडियो क्लिप में देखा जा सकता है कि महिलाएं चिल्ला रही हैं और पुलिसवालों से पूछ रही हैं कि उनके साथ मारपीट क्यों की जा रही है? वीडियो में यह पहचानना मुश्किल है कि महिलाओं के साथ मारपीट करने वाले पुलिस के पुरुष कर्मचारी हैं या महिला पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई की. लेकिन पुलिस सूत्रों का कहना है कि महिला प्रदर्शनकारियों पर केवल महिला पुलिसकर्मियों ने ही कार्रवाई की है. 

CAA पर दिए अमित शाह के भाषण को लेकर JDU के प्रशांत किशोर ने साधा निशाना- अगर विरोध करने वालों की परवाह नहीं तो...

एक अन्य मोबाइल फोन से रिकॉर्ड की गई वीडियो क्लिप में देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मी उस इलाके में मौजूद पुरुषों पर लाठीचार्ज कर रहे हैं. एक अन्य वीडियो में दिख रहा है कि पुलिसकर्मी सड़क के किनारे एक ढाबे में घुसते हैं और उसके कर्मचारियों की पिटाई करते हैं. इसके बाद उसे जबरन बंद करवा दिया गया. 

एक पुलिसकर्मी सड़क किनारे एक वेंडर को पीटता हुए कैमरे में कैद होता है और उसे दुकान बंद करने के लिए कहता है. एक वरिष्ठ पुलिसकर्मी एक अन्य वीडियो में प्रदर्शनकारियों को गाली देते हुए दिखाई देता है. हालांकि, पुलिस ने अपनी इस कार्रवाई का बचाव किया है,. पुलिस का कहना है कि पहले प्रदर्शनकारियों ने उन पर पत्थर फेंके. 

CAA पर फिलहाल रोक से SC का इनकार, केंद्र 4 हफ्ते में देगा जवाब, CJI बोले- एकतरफा रोक नहीं लगा सकते

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना मंगलवार दोपहर की है. शुरुआत में करीब 150 महिलाएं प्रदर्शन में थीं, लेकिन रात होते होते यह संख्या 500 तक पहुंच गई. इटावा पुलिस की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि पुलिसकर्मियों को प्रदर्शन की जगह तैनात किया गया और प्रदर्शनकारियों पर नजर रखी जा रही है. 

बता दें, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. यूपी के भी कई शहरों में भी लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. 

CAA के पांच आलोचकों के साथ बहस के मेरे सुझाव को स्वीकार क्यों नहीं कर रहे प्रधानमंत्री : चिदंबरम

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए मंगलवार को उन्हें चुनौती दी कि जिसको विरोध करना है, करे लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला है. शाह ने सीएए के समर्थन में बंग्लाबाजार स्थित कथा पार्क में आयोजित विशाल जनसभा में कहा, 'इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है. मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो. यदि ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर साधा निशाना, बोले- पैसा लेकर आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा

साथ ही उन्होंने कहा था, 'देश में सीएए के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे कराए जा रहे हैं. सीएए में कहीं पर भी किसी की नागरिकता लेने का कोई प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है ... मैं आज डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, सीएए वापस नहीं होने वाला है.' गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस और सपा समेत विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं, क्योंकि उनकी आंखों पर वोट बैंक की पट्टी बंधी है.