उत्तर प्रदेश: CAA को लेकर भ्रम दूर करने के लिए पर्चे बांटने का अभियान

मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने रविवार को बताया कि राज्य सरकार ने CAA को लेकर लोगों में व्याप्त सभी भ्रम और शंकाएं दूर करने के लिए अभियान शुरू किया है.

उत्तर प्रदेश: CAA को लेकर भ्रम दूर करने के लिए पर्चे बांटने का अभियान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

खास बातें

  • CAA को लेकर लोगों में व्याप्त सभी भ्रम और शंकाएं दूर करने के लिए अभियान
  • अभियान के तहत CAA के बारे में विस्तृत जानकारी वाले पर्चे बांटें जा रहे है
  • पर्चे में लिखा है कि CAA नागरिकता लेने का नहीं बल्कि देने का कानून है
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर व्याप्त भ्रम दूर करने के लिए जगह-जगह पर्चे बांटने का अभियान शुरू किया गया है. मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने रविवार को बताया कि राज्य सरकार ने CAA को लेकर लोगों में व्याप्त सभी भ्रम और शंकाएं दूर करने के लिए अभियान शुरू किया है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर चलाए जा रहे इस अभियान के तहत सीएए के बारे में विस्तृत जानकारी वाले पर्चे जगह-जगह लोगों को बांटे जा रहे हैं. त्रिपाठी ने बताया कि पर्चों के जरिए लोगों को यह बताया जा रहा है कि CAA नागरिकता लेने का नहीं बल्कि देने का कानून है और इससे हिंदू मुसलमान या किसी भी धर्म के लोगों की नागरिकता को कोई खतरा नहीं है.

अमित शाह की राहुल गांधी और ममता बनर्जी को चुनौती, कहा- CAA से नागरिकता जाने की बात साबित करके दिखाएं

बता दें, इससे पहले नागरिकता कानून (CAA) को लेकर समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार को चेतावानी दी थी. उन्होंने कहा था कि अगर नागरिकता कानून को लेकर केंद्र सरकार नहीं मानी तो आने वाले समय में देश में 'महाभारत' होगी. अखिलेश यादव ने कहा था कि इस कानून के विरोध में हम पहले थे और अब भी हैं. उन्होंने अमित शाह के उस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, जिसमें उन्होंने सीएए पर एक इंच भी पीछे न हटने की बात कही थी, कहा कि आपने महाभारत पढ़ी है? उसमें कभी कहा गया था कि सूई की नोक बराबर भी जमीन नहीं देंगे. उसके बाद क्या हुआ?. 

प्रशांत किशोर ने CAA-NRC पर कांग्रेस का किया सपोर्ट तो गुस्साई BJP

उन्होंने कहा था कि सीएए पर अगर सरकार नहीं मानी तो महाभारत होगी. अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा में मोदी सरकार ने इस कानून के विरोध में विपक्ष की बात नहीं सुनी और न ही मानी यही वजह है कि आज आम जनता इस कानून के खिलाफ सड़कों पर उतर रही है.

Newsbeep

VIDEO: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में पीएम के दौरे का किया विरोध

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)