Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अवैध माइनिंग केस में सहरानपुर, लखनऊ और देहरादून में सीबीआई की सर्च

सहरानपुर के तत्कालीन डीएम अजय कुमार के लखनऊ के घर से 15 लाख रुपये कैश, दो प्रॉपर्टी के कागजात बरामद हुए

अवैध माइनिंग केस में सहरानपुर, लखनऊ और देहरादून में सीबीआई की सर्च

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

अवैध माइनिंग केस में सीबीआई ने मंगलवार को सहरानपुर, लखनऊ और देहरादून में सर्च कीं. यह जांच 11 स्थानों पर जारी है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक सहरानपुर के तत्कालीन डीएम अजय कुमार के लखनऊ के घर से 15 लाख रुपये कैश, दो प्रॉपर्टी के कागजात, जिसमें एक कमर्शियल प्लॉट व एक रेसिडेंशियल प्लाट है, बरामद हुए हैं. अजय कुमार 1998 बैच आईएएस हैं और अभी उत्तर प्रदेश खादी एंड विलेज इंडस्ट्री बोर्ड में सेक्रेटरी हैं.  बाकी आरोपियों के यहां केस से जुड़े गोपनीय दस्तावेज बरामद हुई हैं.कल केस दर्ज किया गया था.

इस मामले में सहरानपुर के तत्कालीन डीएम अजय कुमार सिंह और दूसरे तत्कालीन डीएम पवन कुमार, जो कि अभी स्पेशल सेक्रेट्री हाउसिंग एंड अर्बन प्लानिंग हैं, के नाम शामिल हैं. इस केस में लीज होल्डर महमूद अली, दिलशाद, मोहमद इनाम, नसीम अहमद, अमित जैन, विकास अग्रवाल, मोहमद वाजिद, मुकेश जैन और ऑनर पुनीत जैन सहरानपुर के रहने वाले हैं. बाकी प्राइवेट पर्सन हैं.

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट का एक आर्डर 2015 में आया था. इसमें सीबीआई ने सहारनपुर में जांच की और एफआईआर दर्ज की गई.  2005-2015 के बीच 13 लीज सहरानपुर में गलत तरीके से आरोपियों को दी गई थीं. यह लीज 2012-2015 के बीच उस वक्त के डीएम ने गलत तरीके से रिन्यू कर दीं. ई-टेंडर के नियमों को ताक पर रखा गया. इसमें दोनों तत्कालीन डीएम पर प्राइवेट पर्सन्स से मिलीभगत का आरोप है.

मद्रास हाईकोर्ट की पूर्व चीफ जस्टिस के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले की होगी सीबीआई जांच

VIDEO : मॉब लिंचिंग केस में आरोपियों पर फिर लगी हत्या की धारा