NDTV Khabar

यूपी की मंत्री स्वाति सिंह की बढ़ीं मुश्किलें, सुनें- पुलिस अधिकारी को धमकाने वाला पूरा Audio टेप

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार की मंत्री स्वाति सिंह (Swati Singh) की मुश्किलें थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री हैं स्वाति सिंह
  2. पुलिस अधिकारी को धमकाने का ऑडियो वायरल
  3. सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया तलब
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार की मंत्री स्वाति सिंह (Swati Singh) की मुश्किलें थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं. एक वायरल ऑडियो क्लिप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम का जिक्र करते हुए स्वाति एक पुलिस अफसर को धमकाते और एक बिल्डर के खिलाफ दर्ज मामले को रद्द करने की मांग की. जिस बिल्डर के पक्ष में स्वाति कैंट थाने के सर्कल अफसर बीनू सिंह पर केस को वापस लेने का दबाव बना रही हैं, वह अंसल ग्रुप के हैं जो कि पहले से ही धोखाधड़ी के एक मामले में शामिल है. 29 सितंबर को रियल एस्टेट ग्रुप असंल एपीआई के उपाध्यक्ष प्रणव अंसल को दिल्ली हवाई अड्डे में उस वक्त हिरासत में ले लिया गया जब वह आपराधिक विश्वासघात, धोखाधड़ी और जालसाजी से संबंधित मामलों के सिलसिले में लंदन निकलने वाले थे. अंसल को बाद में लखनऊ ले आया गया और जेल भेज दिया गया. 

यूपी की मंत्री स्वाति सिंह का ऑडियो वायरल, CO से बोलीं- 'अंसल के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं होगा क्योंकि...'


शनिवार को पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वाति सिंह (Swati Singh) को फटकार लगाई और फिर ऑडियो क्लिप की जांच के आदेश दिए. ऐसा माना जा रहा है कि उन्होंने पार्टी के अधिष्ठाता वर्ग के समक्ष स्वाति के इस व्यवहार को लेकर नाराजगी जताई है और उनके फैसले का इंतजार कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश में विपक्षी दल योगी आदित्यनाथ की सरकार पर निशाना साधने के लिए इस मौके का जमकर लाभ उठा रहे हैं. समाजवादी पार्टी ने यह कहते हुए एक बयान जारी किया है कि यह घटना योगी सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार को दर्शाती है जहां एक मंत्री को एक भ्रष्ट बिल्डर के पक्ष में खुलकर बात करते हुए सुना जा रहा है.  

उत्तर प्रदेश : महिला मंत्री के नाम पर वसूली करने वाला शख़्स गिरफ्तार 

कांग्रेस इससे एक कदम आगे है, इसने मंत्रालय से स्वाति सिंह (Swati Singh) को बर्खास्त करने की मांग की है. उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा, "यूपी की मंत्री महोदया घोटालेबाज अंसल बिल्डर की पैरवी में लखनऊ सीओ कैंट को धमका रही है. मंत्री जी कह रही हैं कि, 'सीएम साहब तक ये बात है, ऊपर से आदेश है कोई एफआईआर नहीं होनी चाहिए.' घोटालेबाजों का भाजपा शासन में हनक देखिए, कैसे मंत्री महोदया कानून के रखवालों को धमका रही है. यदि योगी आदित्यनाथ सही मायने में भ्रष्टाचार की जांच करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, तो वे इस मंत्री को बर्खास्त कर देंगे." 

स्वाति सिंह: मायावती के पक्ष में बह रही हवा का रुख मोड़ने वालीं, क्या खत्म कर पाएंगी बीजेपी का 'सूखा'? 

टिप्पणियां

वहीं, सपा नेता आईपी सिंह ने कहा है कि ऐसे तत्व भाजपा के एक भिन्न पार्टी होने के दावों को ध्वस्त कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "यदि पुलिस अधिकारियों को मंत्रियों द्वारा कानून के खिलाफ काम करने के लिए कहा जा रहा है, तो कोई राज्य में स्थिति की कल्पना कर सकता/सकती है." इस बीच स्वाति सिंह ने इस प्रकरण पर कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया है और तो और पत्रकारों ने जब इस पर उनकी प्रतिक्रिया जानने के लिए उनसे संपर्क किया तो वह गुस्से में आ गईं. हालांकि उनके करीबी सूत्रों ने दावा किया है कि इस ऑडियो क्लिप को एडिट या संपादित कर पुलिस अधिकारी द्वारा लीक किया गया है.


 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement