प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई को CM योगी ने ठहराया सही, कहा- 'हर दंगाई हतप्रभ है क्योंकि...'

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शनकारियों पर अपनी सरकार की कार्रवाई को सही ठहराते हुए कहा कि, 'कार्रवाई की वजह से प्रदर्शनकारी हतप्रभ हैं.'

प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई को CM योगी ने ठहराया सही, कहा- 'हर दंगाई हतप्रभ है क्योंकि...'

सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शनकारियों पर अपनी सरकार की कार्रवाई को सही ठहराते हुए कहा कि, 'कार्रवाई की वजह से प्रदर्शनकारी हतप्रभ हैं.' सीएम योगी आदित्यनाथ के ऑफिस की ओर से शुक्रवार को एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट किये गए और दावा किया गया कि उत्तर प्रदेश अब 'पूर्णत: शांत' है. ट्वीट में कहा गया, 'दंगाईयों के खिलाफ CM योगी आदित्यनाथ सरकार के रौद्र रूप को देख हर उन्मादी यही सोच रहा है कि उन्होंने योगी जी की सत्ता को चुनौती देकर बहुत बड़ी गलती कर दी है. दंगाइयों के खिलाफ सरकार जिस तरह की कार्रवाई कर रही है वो पूरे देश में एक मिसाल बन चुकी है.'  

Newsbeep

ट्वीट में आगे कहा गया, 'उत्तर प्रदेश को हिंसा के दावानल में झोंकने के अरमान रखने वालों के मंसूबों पर योगी सरकार की सख्ती से तुषारापात हो गया है. सार्वजनिक संपत्ति को क्षति पहुंचाने वाले उपद्रवियों से ही क्षतिपूर्ति के सिंहनाद में उपद्रवियों ने अपना संभावित अंजाम देख लिया. यूपी अब पूर्णतः शांत है.' मुख्यमंत्री कार्यालय ने आगे लिखा, ''हर दंगाई हतप्रभ है...हर उपद्रवी हैरान है...देख कर योगी सरकार की सख्ती मंसूबे सभी के शांत हैं...कुछ भी कर लो अब, क्षतिपूर्ति तो क्षति करने वाले से ही होगी...ये योगी जी का ऐलान है...हर हिंसक गतिविधि अब रोयेगी क्योंकि यूपी में योगी सरकार है.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सीएम योगी आदित्यनाथ के ऑफिस की ओर से किये गए ट्वीट में यह भी कहा गया, 'नागरिकता (संशोधन) कानून 2019 को लेकर हिंसा पर उतारू दिग्भ्रमित लोगों से अब वसूली की कार्रवाई हो रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का यह निर्णय अनुकरणीय है और उपद्रवियों पर यह कार्रवाई देश में अप्रतिम मिसाल बनेगी. वसूली तो होकर रहेगी.' ट्वीट के साथ 'द ग्रेट सीएम योगी' हैशटैग भी लिखा गया. बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के तमाम शहरों में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ऐसे प्रदर्शनकारियों को चिन्हित कर रही है जो तोड़फोड़ में शामिल थे और उन्हें वसूली का नोटिस भेज रही है.