NDTV Khabar

एक्शन में सीएम योगी आदित्यनाथ, लखनऊ पुलिस जोन के 11 जिलों में 'एंटी रोमियो स्क्वॉड' बनाने के आदेश

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक्शन में सीएम योगी आदित्यनाथ, लखनऊ पुलिस जोन के 11 जिलों में 'एंटी रोमियो स्क्वॉड' बनाने के आदेश

लखनऊ जोन के 11 जिलों में एक माह का विशेष अभियान शुरू किया है...

खास बातें

  1. लखनऊ जोन के जोन के 11 जिलों में एक माह का विशेष अभियान शुरू किया है
  2. हर सप्ताह अभियान में की कार्रवाई की समीक्षा की जाएगी
  3. भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में वादा किया था वादा
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहला वादा पूरा करने जा रहे हैं. भाजपा सरकार के 'संकल्प पत्र पर अमल के तहत लखनऊ पुलिस जोन के 11 जिलों में महिलाओं से छेड़खानी रोकने के लिए 'एंटी रोमियो दल' बनाने के आदेश दिए गए हैं. लखनऊ जोन के पुलिस महानिरीक्षक ए. सतीश गणेश ने मंगलवार को कहा कि जोन के 11 जिलों में एक माह का विशेष अभियान शुरू किया है और वह हर सप्ताह इसकी कार्रवाई की समीक्षा करेंगे.

उन्होंने कहा कि इस अभियान के प्रमुख बिंदुओं में महिलाओं/ छात्राओं के साथ छेड़खानी और अभद्र टिप्पणी की रोकथाम के लिये सम्बन्धित थाना स्तर पर 'एंटी रोमियो स्क्वॉड' का गठन करके कार्यवाही सुनिश्चित करने का आदेश शामिल है. साथ ही ऐसे अपराधी, जिनके खिलाफ महिलाओं के साथ छेड़खानी/बलात्कार जैसे गम्भीर अपराधों में आरोप पत्र दाखिल किया गया है, उनके खिलाफ गुण्डा एक्ट के तहत कार्यवाही की जाए.

टिप्पणियां
मालूम हो कि भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में वादा किया था कि महिलाओं और लड़कियों से छेड़छाड़ की घटनाओं पर सख्ती से रोक लगाने के लिए 'एंटी रोमियो दल' बनाए जाएंगे. इस तरह से योगी आदित्यनाथ ने अपने पहले वादू को पूरा करने की दिशा में कदम उठा दिए हैं.

पुलिस महानिरीक्षक के आदेश में गौकशी पर प्रभावी रूप से अंकुश लगाते हुए ऐसे मामलों में नामजद किये गये या प्रकाश में आये अभियुक्तों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने तथा पशु तस्करी पर कड़ाई से रोक लगाने को कहा गया है. गणेश ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि भूमाफिया तथा अवैध शराब की बिक्री तथा तस्करी करने वाले माफियाओं का चिन्हीकरण करके उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून, गैंगस्टर एक्ट, गुण्डा एक्ट, शस्त्र निरस्त्रीकरण तथा हिस्ट्रीशीट खोली जाए. साथ ही पैरोल पर छूटे ऐसे अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की जाए, जो पैरोल की शर्तो का उल्लंघन कर रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement