NDTV Khabar

अब DM और SSP ही नहीं, दूसरे अफसरों के पास भी करें ऑनलाइन शिकायत, CM योगी ने दिए निर्देश

अगर अफसर सही समय पर शिकायत का निस्तारण नहीं करता है तो उसे तत्काल दंडित किया जाएगा.

162 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब DM और SSP ही नहीं, दूसरे अफसरों के पास भी करें ऑनलाइन शिकायत, CM योगी ने दिए निर्देश

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ( फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शिकायतों का जल्द निपटारन के लिए 15 हजार अधिकारियों की होगी नियुक्ति
  2. पहले शिकायतों के निपटारे के लिए 150 अधिकारी ही उपलब्ध थे
  3. समय पर शिकायतों का निस्तारण नहीं होने पर दंडित होंगे संबंधित अधिकारी
लखनऊ: सरकार का जनता से सीधा संवाद हो सके और जनता की समस्याओं का झटपट निपटारा, इसके लिए अब यूपी की जनता को लंबी लाइनें, घंटों, दिनों, हफ्तों या महीनों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा, क्योंकि योगी सरकार ने इसके लिए पूरे प्रदेश में 15 हजार अधिकारियों और कर्मचारियों की फौज उतारने का फैसला किया है. प्रदेश सरकार के इस फैसले के बाद उत्तर प्रदेश में अब जनता के लिए शिकायत करना आसान होगा. 


बता दें कि प्रदेश की योगी सरकार ने जनता की शिकायतों का जल्द निपटारन के लिए 15 हजार अधिकारियों की नियुक्ति करने जा रही है. वर्तमान में जनसुनवाई के लिए प्रदेश स्तर पर ऑनलाइन माध्यम से  शिकायत का निपटारा करने के लिए 150 अधिकारियों का ही विकल्प उपलब्ध था, जिसे अब  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बढ़ाकर 15  हजार कर दिया है. अब जनता सीधे जिलाधिकारी और एसएसपी के साथ साथ अन्य जिला स्तरीय, तहसील, ब्लॉक और थाना स्तरीय अधिकारियों के पास अपनी शिकायत सीधे ऑनलाइन तरीके से दर्ज करा सकेगी. राज्य सरकार ने इस संबंध में शासनदेश जारी कर के इस व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है. प्रदेश सरकार का कहना है की जन सुनवाइयों का उसी स्तर पर निपटारा होना चाहिए, जिस स्तर पर निस्तारण अपेक्षित है.

यह भी पढ़ें: विधान परिषद के लिए निर्विरोध चुने गए मुख्यमंत्री योगी और उनके दो उप मुख्यमंत्रियों समेत चार मंत्री


शिकायत न दूर हुई तो अफसर को मिलेगी सजा
अगर अफसर सही समय पर शिकायत का निस्तारण नहीं करता है तो उसे तत्काल दंडित किया जाएगा. हाल ही में कुछ डीएम का तबादला भी इसी वजह से किया गया था.


यह भी पढ़ें: यूपी के शिक्षामित्रों को 10 हजार मिलेगा मानदेय, अब तक 3500 से चलता गुजारा

कैसे काम करता है ये पोर्टल 
जनसुनवाई पोर्टल jansunwai.up.nic.in या उसके या एप्प पर जनता अपनी शिकायत सीधे दर्ज करा सकती है. सबसे पहले अपनी जानकारी जैसे नाम, फोन नंबर, पता या आधार नंबर डाले, उनके बात जिस विभाग से संबंधित शिकायत है उसे चयन करें. इसके बाद अपनी शिकायत दिए गए बॉक्स में लिखें अगर आपके पास शिकायत से संबंधित कोई दस्तावेज है तो उसे भी अपलोड करें. इसके बाद उन्हें एक नंबर मिलता है और एसएमएस अलर्ट के जरिए जानकारी मिलती रहती है कि उनकी शिकायत कहां और किस अफसर तक पहुंची है. अभी तक शिकायत आने के बाद उसे संबधित अफसर को भेजा जाता था. लेकिन अब यह शिकायतें सीधे संबंधित अफसर को ऑनलाइन मिल जाएंगी। ये अफसर तहसील, ब्लॉक और थाना स्तर के होंगे। अभी तक उन्हें शिकायतें डीएम या एसएसपी के जरिए मिलती थीं। इसमें कई बार काफी समय लग जाता था। अब सीधे ऑनलाइन शिकायत मिल जाने के बाद उसका निश्चित समय में समाधान भी कराना होगा, क्योंकि इसकी सीधी निगरानी सीएम दफ्तर करेगा। इसके लिए सीएम दफ्तर में एक अफसर को भी लगाया गया है। अब तक इस एप्प को एक लाख से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं।


VIDEO: ईद के दिन सड़कों पर नमाज नहीं रोका जा सकता, तो थानों में जन्माष्टमी पर रोक क्यों लगाए: योगी


जनसुनवाई पोर्टल की ये हैं खूबियां
जन-सुनवाई पोर्टल में शिकायत से जुड़े विभिन्न प्लेटफॉर्म को एक ही प्लेटफॉर्म पर लाया गया है. हर शिकायत का निस्तारण तय समय में करना होगा. शिकायतकर्ता ऑनलाइन शिकायत कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें किसी विभाग या कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं होगी. इससे आमजन को काफी सहूलियत होगी. उन्हें अनावश्यक दौड़धूप से छुटकारा मिलेगी. खास बात यह कि इस पोर्टल पर आने वाली शिकायतों के निस्तारण की पूरी निगरानी मुख्यमंत्री कार्यालय करेगा. मुख्य सचिव ने कहा है कि  इस व्यवस्था को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए विभागवार नोडल अधिकारी नामित किए जाएंगे. इस पर अमल के लिए मंडलायुक्त व डीएम जिम्मेदार होंगे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement