NDTV Khabar

शिकायतकर्ता ही निकला होमगार्ड घोटाले के दस्तावेज जलाने का आरोपी, सीसीटीवी से सामने आया सच

होमगार्ड वेतन घोटाले की जांच के दौरान होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय का ताला तोड़कर दस्तावेजों को आग के हवाले करने के आरोपी प्लाटून कमाण्डर राजीव कुमार को पुलिस ने  गिरफ्तार किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिकायतकर्ता ही निकला होमगार्ड घोटाले के दस्तावेज जलाने का आरोपी, सीसीटीवी से सामने आया सच

प्रतीकात्मक फोटो

नोएडा:

होमगार्ड वेतन घोटाले की जांच के दौरान होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय का ताला तोड़कर दस्तावेजों को आग के हवाले करने के आरोपी प्लाटून कमाण्डर राजीव कुमार को पुलिस ने  गिरफ्तार किया है. राजीव कुमार ने ही एसएसपी से शिकायत की थी, जिसकी जांच में होमगार्ड विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार का खुलासा हुआ था. पुलिस ने राजीव कुमार की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है. गहन पूछताछ में आरोपी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है, उसका कहना है कि अपने आपको बचाने व कार्रवाही में देरी होने और अधिकारियों पर कार्रवाही न होने से आहत के चलते दस्तावेज को जलाया था. 

AAP सदस्य का आरोप: विश्वास पार्क से सीसीटीवी कैमरों की चोरी हुई

जिला कमांडेंट होमगार्ड के कार्यालय में आग की जांच कर रही एसआईटी, स्टार 1, स्टार 2 टीम और सूरजपुर थाने की पुलिस कि टीमों ने जब घटना स्थल एवं आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला, तो उनके हाथ  एक महत्वपूर्ण CCTV फुटेज पुलिस को मिला, जिसमें एक संदिग्ध व्यक्ति शॉल ओढ़े हाथ में लोहे की रॉड लिये रात के समय होमगार्ड कार्यालय की तरफ जाता हुआ पाया गया. जांच में उजागर तथ्यों के आधार पर प्लाटून कमाण्डर राजीव कुमार हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर घटना का खुलासा हो गया. 


एसएसपी ने बताया कि अभियुक्त ने स्वीकार किया गया कि उसके द्वारा जो भी होमगार्ड ड्यूटी मस्टर रोल बनाये गये थे, उनमें भी उसके द्वारा कई अनियमिततायें की गयीं थी. सभी मास्टर रोल में कार्य दिवस की संख्या अनुचित तरीके से बढ़ायी गयी थी. अभियुक्त द्वारा मुख्य रूप से प्रशासनिक कार्यालयों में तैनात होमगार्ड की ड्यूटी के मास्टर रोल तैयार किये जाते थे, जो जांच के क्रम में पुलिस द्वारा शीघ्र ही कब्जे में लिये जाने थे. उनको नष्ट करने से अभियुक्त पीसी होमगार्ड राजीव कुमार को घोटाले के सम्बन्ध में चल रही जांच में लाभ मिलता. 

गाड़ी टकराने पर हुई बहस, फिर बाइक सवार बदमाशों ने मारे ताबड़तोड़ चाकू, CCTV में कैद हुई पूरी वारदात

आरोपी राजीव कुमार का कहना था  उसके द्वारा माह जुलाई में की गयी शिकायत की जांच में तत्कालीन जिला कमाण्डेंट होमगार्ड रामनारायण चौरसिया और पीसी होमगार्ड मोन्टू, शलैन्द्र, सत्यवीर आदि के पूर्ण रूप से दोषी पाये जाने के उपरान्त भी विभाग से उनके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत करने की अनुमति न मिलने पर पीसी राजीव कुमार को लगा कि विभाग द्वारा अधिकारियों का बचाव किया जा रहा है. अभियुक्त के अनुसार वह इससे आहत था. उसे ऐसा लगा कि मात्र नीचे के कर्मचारियों के विरुद्ध ही कार्रवाई करके यह प्रकरण समाप्त कर दिया जाएगा. इसीलिए उसने मस्टर रोल जला दिया, जिससे नीचे के कर्मचारियों के विरुद्ध भी कार्रवाई न हो. 

टिप्पणियां

VIDEO: पालतू बंदर ने उठाया मोबाइल और कर दिया किराने का सामान ऑर्डर, मालकिन ने देखा तो...

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि अभियुक्त से वह शॉल भी बरामद कर लिया है, जिसे ओढ़कर उसने आगजनी की घटना को अंजाम दिया था और सीसीटीवी में कैद हुआ था. जिस लोहे की रॉड से अभियुक्त ने जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय के दरवाजे व बक्से का ताला तोड़ा था, उसे भी बरामद कर लिया गया है. खाली पेट्रोल की बोतल को भी बरामद किया गया है, जिसमें जिला कमान्डेड कार्यालय पर खड़ी मोटर साइकिल से पेट्रोल निकालकर आग लगाने में इस्तेमाल की गयी थी. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement