खून से खत लिखकर पीएम नरेंद्र मोदी को दी जन्मदिन की बधाई

बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से अनशन पर बैठे आंदोलनकारियों ने लिखे पत्र

खून से खत लिखकर पीएम नरेंद्र मोदी को दी जन्मदिन की बधाई

प्रधानमंत्री मोदी को खून से लिखे गए पत्रों के साथ आंदोलनकारी.

खास बातें

  • कहा - बुंदेलखंड क्षेत्र को बार-बार छला गया है
  • भाषा, संस्कृति और विरासतों का गला घोंटा जा रहा
  • बुंदेलखंड को राज्य बनाने की घोषणा करने की मांग
महोबा:

बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से अनशन पर बैठे बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने आज अपने साथियों के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को खून से खत लिखकर बधाई दी है. इस दौरान तारा पाटकर ने कहा, "भाजपा तो हमेशा से छोटे राज्यों की पक्षधर रही है. अगर ऐसा न होता तो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एक साथ तीन नए राज्य न बनाते. बुंदेलखंड को बार-बार छला गया है. यहां की भाषा, संस्कृति और ऐतिहासिक विरासतों का लगातार गला घोंटा जा रहा है. इसलिए बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाया जाना चाहिए."

उन्होंने कहा, "बुंदेलखंड को सिर्फ खनन के नाम पर लूटा जा रहा है. अब इसे हम और बर्दाश्त नहीं कर सकते. आप भी बुंदेलों की भावनाओं का सम्मान करें और जितनी जल्दी हो, बुंदेलखंड राज्य की घोषणा कर दें."

उन्होंने कहा, "हम प्रधानमंत्री को बताना चाहते हैं कि बुंदेलखंड की जनता आपको कितना चाहती है. अगर आप यहां के लोगों के दिलों में न बसते होते तो बुंदेलखंड से बार-बार सभी सीटें भाजपा को न मिलतीं. हम लोगों ने प्रत्याशी नहीं देखे, सिर्फ आपको देखा है. अब आपकी बारी है आप इसे अलग राज्य घोषित कर दें."

परिवार को खोने के बाद शख्स ने बनाया 40 हजार वृक्षों का जंगल, प्रियंका गांधी बोलीं- 'असम्भव कुछ नहीं, सिर्फ...'

पाटकर के साथ बुंदेलखंड क्रांति दल के जिलाध्यक्ष दीपेन्द्र सिंह परिहार, हरीओम निषाद व खुर्शीद आलम ने भी प्रधानमंत्री को खून से खत लिखे और उनको जन्मदिन की बधाई दी.

VIDEO : पानी के विकराल संकट से जूझ रहा बुंदेलखंड



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com