सोनभद्र नरसंहार: यूपी सरकार पर कांग्रेस का हमला, कहा - आरोपियों के साथ खड़े हैं सीएम योगी 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि सोनभद्र का नरसंहार देश के गरीब और किसान के खिलाफ है.

सोनभद्र नरसंहार: यूपी सरकार पर कांग्रेस का हमला, कहा - आरोपियों के साथ खड़े हैं सीएम योगी 

रणदीप सुरजेवाला ने सीएम योगी पर किया हमला

नई दिल्ली:

सोनभद्र नरसंहार को लेकर कांग्रेस ने यूपी सरकार पर जमकर हमला बोला है. कांग्रेस ने यूपी सरकार पर आरोपियों के साथ खड़े रहने की बात कही है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि सोनभद्र का नरसंहार देश के गरीब और किसान के खिलाफ है. ये हत्याएं संस्थागत मानी जाएं. उन्होंने कहा कि पीड़ितों को न्याय देने की बजाय अजय सिंह उर्फ आदित्यनाथ की सरकार विपक्षी दलों के नेताओं के दमन में लगी है. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि प्रियंका गांधी का कसूर इतना ही है कि वह पीड़ितों से मिलना और उनके आंसू पोंछना चाहती थीं.

सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों के परिजनों से की प्रियंका गांधी ने मुलाकात

सुरजेवाला ने कहा कि पीड़ित आदिवासियों के गांव ऊंभा को पुलिस छावनी बना दिया गया है. किसी के भी आने जाने पर रोक लगा दी गई है. क्या वहां आतंकवादी और उग्रवादी हैं?. आदित्यनाथ सरकार ने 19 अक्टूबर 2017 को आदिवासियों की जमीन को मुख्य आरोपी के नाम कर दी. योगी सरकार आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करवाना चाहती है. उन्होंने कहा कि आदिवासी किसान के खिलाफ कई प्राथमिकी दर्ज की गईं. आदिवासियों ने जिलाधिकारी के पास आवेदन किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. उन्होंने कहा कि यह आदित्यनाथ सरकार का षडयंत्र नहीं तो क्या है?

सोनभद्र : 24 घंटे से हिरासत में प्रियंका गांधी, कहा- पीड़ितों से बिना मिले नहीं जाऊंगी

सच्चाई यह है कि आदित्यनाथ सरकार अपराधियो को संरक्षण दे रही है. वह सोनभद्र में अपराधियों के साथ खड़ी है. हम नरसंहार के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए हर संभव कदम उठाएंगे. सुरजेवाला ने यह सवाल भी किया कि क्या पूरे उम्भा गाँव (सोनभद्र) को पुलिस छावनी में बदल कर सच दबा पाएगी आदित्यनाथ सरकार? भाजपा सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है?. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सोनभद्र में नरसंहार : प्रियंका गांधी ने कहा- मेरा निर्णय अडिग, TMC सांसद भी पहुंचेंगे पीड़ितों से मिलने, 15 बातें

गौरतलब है कि प्रियंका को शुक्रवार को सोनभद्र जाने से प्रशासन ने रोक दिया गया था. वह बुधवार को हुए इस सामूहिक हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहीं थी. प्रियंका प्रशासन के इस कदम के विरोध में धरने पर बैठ गई थीं. बाद में उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया. शनिवार सुबह पीड़ित परिवारों के कुछ लोग खुद वहां पहुंचे और प्रियंका से मिले. पिछले दिनों सोनभद्र में जमीन विवाद में एक ग्राम प्रधान ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर कथित रूप से दूसरे पक्ष पर गोलीबारी की जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. (इनपुट भाषा से)