NDTV Khabar

कॉन्स्टेबल ने की योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग, तो जारी हुआ बर्खास्तगी का आदेश

आदित्यनाथ सरकार को बर्खास्त करने की मांग करने पर पीएसी (प्रोविंशियल आर्म्ड कॉन्स्टेब्युलरी) के एक कांस्टेबल को बर्खास्त कर दिया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कॉन्स्टेबल ने की योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग, तो जारी हुआ बर्खास्तगी का आदेश

कॉन्स्टेबल ने योगी आदित्यनाथ सरकार को बर्खास्त करने की मांग की थी.

खास बातें

  1. पीएसी में तैनात थे कॉन्स्टेबल मुनीश यादव
  2. योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग की थी
  3. इटावा के रहने वाले मुनीश यादव नोएडा में तैनात हैं
इटावा:

उत्तर प्रदेश में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां योगी आदित्यनाथ सरकार को बर्खास्त करने की मांग करने पर पीएसी (प्रोविंशियल आर्म्ड कॉन्स्टेब्युलरी) के एक कांस्टेबल को बर्खास्त कर दिया गया है. कांस्टेबल मुनीश यादव ने शनिवार को अपनी वर्दी के साथ लाल समाजवादी टोपी पहनी और जिला कलेक्ट्रेट में एक तख्ती लेकर गए पहुंच गए जिस पर लिखा था, "योगी सरकार को बर्खास्त करो". मुनीश यादव ने मीडिया से कहा कि राज्य सरकार को बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए क्योंकि यह कानून और व्यवस्था कायम रखने में विफल रही है. उन्होंने कहा कि वह जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को इस संबंध में ज्ञापन देने आए थे. जिलाधिकारी जे.बी. सिंह ने कहा कि कांस्टेबल उनसे नहीं मिला, लेकिन उन्होंने मीडियाकर्मियों से घटना के बारे में सुना है. वर्तमान में इटावा के रहने वाले मुनीश यादव नोएडा में तैनात हैं. 

सीएम योगी पर 'विवादित' ट्वीट और टीवी डिबेट के मामले में पत्रकार और न्यूज चैनल के संपादक गिरफ्तार


टिप्पणियां

पुलिस महानिदेशक ओ.पी.सिंह ने घटना का संज्ञान लिया है और घोर अनुशासनहीनता के आरोप में मुनीश यादव की बर्खास्तगी के आदेश जारी किए हैं. मुनीश यादव के परिवार के सदस्यों ने निवेदन किया कि वह मानसिक रूप से परेशान है इसलिए यह घटना हुई. आपको बता दें कि पिछले दिनों आपको बता दें कि पिछले दिनों यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर पत्रकार प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) को भी यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था. हालांकि कोर्ट के आदेश के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया है. दरअसल, कनौजिया ने अपने ट्विटर और फेसबुक पर एक वीडियो डाला था, जिसमें एक महिला को मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर कई मीडिया संस्थानों के संवाददाताओं से बातचीत करते हुए देखा जा सकता है और इसमें वह दावा करते दिख रही है कि उसने मुख्यमंत्री को विवाह प्रस्ताव भेजा है. इसी पोस्ट के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था. (इनपुट-IANS से भी)

VIDEO : मानहानि पर कोर्ट की इजाजत के बिना गिरफ्तारी कैसे?



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement