मुरादाबाद में पुलिस और मेडिकल टीम पर हमला करने के मामले में 17 लोग गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने के मामले में 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए लोगों में 10 पुरुष और 7 महिलाएं शामिल हैं.

मुरादाबाद में पुलिस और मेडिकल टीम पर हमला करने के मामले में 17 लोग गिरफ्तार

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पुलिस और स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने के मामले में 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए लोगों में 10 पुरुष और 7 महिलाएं शामिल हैं. इन सभी पर 19 धाराओं के तहत मुकदमा चलेगा. बता दें कि. कोरोनावायरस (Coronavirus) के संदिग्ध मरीज को अस्पताल ले जाने के लिए पहुंचे डॉक्टरों और मेडिकल स्टॉफ की टीम पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया. मिली जानकारी के मुताबिक इस हमले कई लोग घायल हो गए. इतना ही नहीं, डॉक्टरों, पैरा मेडिकल टीम और एंबुलेंस की सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस टीम पर भी हमला किया गया. यह घटना मुरादाबाद के नवाबपुरा पुलिस थाने क्षेत्र में घटित हुई थी.

लोगों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव कर दिया, जिससे 108 की दो गाड़ियां और पुलिस की दो तीन गाड़ियों के शीशे क्षतिग्रस्त हो गई. वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिस और मेडिकल स्टॉफ के वाहनों पर स्थानीय लोगों ने पत्थरों और ईंट से हमला करके शीशे तोड़ डाले. गलियों में बहुत सारे पत्थर और ईंटें गिरी हुई दिखाई दीं, जो COVID-19 संदिग्ध के घर तक जाती हैं.

एंबुलेंस के ड्राइवर ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि कुछ लोगों ने मेडिकल टीम और पुलिस पर पथराव किया जो लोग COVID-19 के संक्रमित व्यक्ति को लेने गए थे. जब हमारी टीम मरीज के साथ एम्बुलेंस में सवार हुई, तो अचानक भीड़ उमड़ी और पथराव शुरू कर दिया. कुछ डॉक्टर अभी भी वहीं हैं. हम घायल हो गए."

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स व कर्मी, सभी सफाई अभियान से जुड़े अधिकारी, कर्मचारी, सुरक्षा में लगे सभी पुलिस अधिकारी व पुलिस विभाग के कर्मी इस आपदा की घड़ी में दिन रात सेवा कार्य में जुटे हैं. मुरादाबाद में पुलिस, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता अभियान से जुड़े कर्मियों पर हमला एक अक्षम्य अपराध है, जिसकी घोर निंदा की जाती है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे दोषी व्यक्तियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के तहत कार्रवाई की जाएगी. दोषियों द्वारा की गई राजकीय संपत्ति के नुकसान की भरपाई उनसे सख्ती से की जाएगी. सीएम योगी ने कहा कि जिला पुलिस प्रशासन ऐसे उपद्रवी तत्वों को तत्काल चिन्हित करे और प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा के साथ ही उपद्रवी तत्वों पर पूरी सख्ती भी करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: मुरादाबाद में कोरोना संदिग्धों की जांच के लिए गई टीम पर पथराव