NDTV Khabar

छेड़छाड़ का आरोप लगाकर भीड़ ने शख्स को पेशाब पीने पर किया मजबूर, कोर्ट ने FIR के दिये आदेश

कोर्ट ने पुलिस को उन 26 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया जिन्होंने पिछले महीने यहां लस्कर गंज गांव में एक व्यक्ति पर एक महिला से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए उस पर कथित रूप से हमला किया और उसे पेशाब पीने को मजबूर किया.

91 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
छेड़छाड़ का आरोप लगाकर भीड़ ने शख्स को पेशाब पीने पर किया मजबूर, कोर्ट ने FIR के दिये आदेश

प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ: आज कल किसी भी घटना में भीड़ ही अपना फैसला सुनाने को आतुर दिखती है. एक बार फिर से भीड़ ने एक शख्स को पेशाब पीने को मजबूर कर दिया. दरअसल, कोर्ट ने पुलिस को उन 26 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया जिन्होंने पिछले महीने यहां लस्कर गंज गांव में एक व्यक्ति पर एक महिला से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए उस पर कथित रूप से हमला किया और उसे पेशाब पीने को मजबूर किया.

पीड़ित कद्दे राम सिंह ने अपनी याचिका में आरोप लगाया गया था कि 14 सितंबर को उस पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने के बाद गांववालों ने उसे पेशाब पीने के लिए मजबूर किया. उसने आरोप लगाया कि महिलाओं सहित गांववालों ने उसे झाड़ुओं और डंडों से पीटा और जूतों की माला पहनाकर उसका मुंह काला कर दिया. सिंह ने आरोप लगाया कि गांववालों ने उसे गांव की सड़कों पर घुमाया. उसने लोगों से दया की भीख मांगी लेकिन उसकी बात किसी ने नहीं सुनी.

यह भी पढ़ें - छेड़छाड़ करने वाले आरोपियों को जज ने ऐसे सिखाया सबक

उसने आरोप लगाया कि जब उसके रिश्तेदारों ने उसे छुड़ाने का प्रयास किया तो उन पर भी हमला किया गया और उन्हें दो घंटे तक यातनाएं दी गईं. सिंह ने आरोप लगाया कि इसके बाद उसे एक अस्पताल में ले जाया गया और पुलिस को जानकारी दी गई लेकिन पुलिस ने शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया. इसके बाद सिंह अदालत की शरण में गया और न्यायिक मजिस्ट्रेट तारकेश्वरी सिंह ने कल पुलिस को 26 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया.

VIDEO: बेटी से छेड़छाड़ करने से मना करने पर शख्स को जिंदा जलाया (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement