कैराना उपचुनाव : बीजेपी के खिलाफ फतवा जारी करने की खबरों का दारुल उलूम देवबंद ने किया खंडन

दारुल उलूम ने किसी भी पार्टी को लेकर कोई फतवा या बयान जारी नहीं किया है. आपको बता दें कि कैराना उपचुनाव को लेकर खबर आ रही थी कि दारुल उलूम की ओर से बीजेपी के खिलाफ फतवा जारी किया गया है. 

कैराना उपचुनाव : बीजेपी के खिलाफ फतवा जारी करने की खबरों का दारुल उलूम देवबंद ने किया खंडन

फाइल फोटो

खास बातें

  • मंगलवार को होगा मतदान
  • विपक्षी पार्टियां लामबंद
  • बीजेपी से मृगांका सिंह हैं मैदान मेें
नई दिल्ली:

कैराना उपचुनाव को लेकर जारी किये गये फतवा की खबरों को लेकर दारुल उलूम देवबंद ने इनकार किया है. एक पत्र जारी करके दारुल उलूम देवबंद की ओर से कहा गया है कि वो किसी भी तरह के राजनैतिक मामलों में दखल नहीं देता है. दारुल उलूम ने किसी भी पार्टी को लेकर कोई फतवा या बयान जारी नहीं किया है. आपको बता दें कि कैराना उपचुनाव को लेकर खबर आ रही थी कि दारुल उलूम की ओर से बीजेपी के खिलाफ फतवा जारी किया गया है. 

कैराना में सुरक्षा कड़ी 
उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर 28 मई को होने वाले उपचुनाव से पहले प्रशासन ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी है और अन्य कदम उठाए हैं. पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिला अधिकारियों ने निर्वाचन क्षेत्र को 14 जोनों और 143 सेक्टरों में विभाजित किया है. उन्होंने बताया कि चुनाव के लिए केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की 51 कंपनियों को तैनात किया जाएगा. उनमें से 26 को शामली जिले में और 25 को सहारनपुर जिले में तैनात किया जाएगा.  कैराना लोकसभा सीट में पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं जिनमें नकुड़ , गंगोह , कैराना , थाना भवन और शामली शामिल है. अधिकारियों ने बताया कि चुनाव से पहले कैराना की सीमा को सील कर दिया जाएगा.

Newsbeep

कौन हैं प्रत्याशी
भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है. भाजपा ने उनकी बेटी मृगांका सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है. वह राष्ट्रीय लोक दल की प्रत्याशी तबस्सुम हसन के खिलाफ मैदान में है. तबस्सुम को कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का समर्थन है.  नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में भी 28 मई को उपचुनाव होगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com