NDTV Khabar

एएमयू के प्रोफेसर की पत्नी ने व्हाट्सएप पर तलाक का आरोप लगाया

इस बीच, महिला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि उनके पति ने उच्चतम न्यायालय के ‘तीन तलाक’ पर हालिया फैसले के खिलाफ कदम उठाया.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
एएमयू के प्रोफेसर की पत्नी ने व्हाट्सएप पर तलाक का आरोप लगाया

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर की पत्नी ने लगाया आरोप
  2. उन्होंने हमसे अनुरोध किया कि इस मामले को निपटाया जाए : एसएसपी
  3. प्रोफेसर ने दावा किया, पत्नी ने अपने अतीत के बारे में उन्हें गुमराह किया
अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर की पत्नी ने अपने पति पर व्हाट्सएप के जरिए उन्हें तलाक देने का आरोप लगाया. महिला ने पिछले सप्ताह पुलिस के पास जाकर आरोप लगाया कि उनका पति उन्हें ‘परेशान’ कर रहा है और उसने उन्हें घर में घुसने से रोकने के लिए घर में ताला लगा दिया है. एसएसपी राजेश पांडेय ने कहा कि पत्नी पिछले सप्ताह उनसे मिली और आरोप लगाया कि उसके पति ने उसे व्हाट्सएप पर दो बार ‘तलाक’ के नोटिस भेजे. पांडेय ने कहा, ‘उन्होंने हमसे अनुरोध किया कि इस मामले को निपटाया जाए.

पुलिस ने प्रोफेसर को निपटाने की प्रकिया के बारे में जानकारी दी लेकिन वह निपटान अधिकारी के सामने पेश नहीं हुए.’ उन्होंने कहा कि उत्पीड़न और पत्नी को घर में घुसने से गलत तरीके से रोकने के आरोप में प्रोफेसर के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया.

यह भी पढ़ें : तुम खूबसूरत नहीं हो... कहकर पति ने स्पीड पोस्ट के जरिए भेजा तीन तलाक

हालांकि एएमयू के शिक्षाविद ने कहा कि मामला अक्तूबर के पहले सप्ताह से विचाराधीन है. उन्होंने कहा कि कानून के अनुसार, उन्होंने तय समयावधि के बाद अपनी पत्नी को दो नोटिस भेजे और अंतिम की तैयारी कर रहे थे.

VIDEO : तीन तलाक़ पर ऐतिहासिक फ़ैसले से क्या समाज में बदलाव दिखेगा?​


प्रोफेसर ने दावा किया कि उनके पास दस्तावेजी सबूत हैं जो साबित करेंगे कि उनकी पत्नी ने अपने अतीत के बारे में उन्हें गुमराह किया. उन्होंने कहा कि उन्होंने पत्नी के साथ टकराव से बचने के लिए अपना आधिकारिक बंगला स्वेच्छा से छोड़ दिया. इस बीच, महिला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि उनके पति ने उच्चतम न्यायालय के ‘तीन तलाक’ पर हालिया फैसले के खिलाफ कदम उठाया.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement