NDTV Khabar

योगी आदित्‍यनाथ की सख्‍त हिदायत, कानून को हाथ में ना लें भाजपा कार्यकर्ता

1.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी आदित्‍यनाथ की सख्‍त हिदायत, कानून को हाथ में ना लें भाजपा कार्यकर्ता

योगी आदित्‍यनाथ ने अपने बुंदेलखण्ड दौरे के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गलत काम की शिकायत अपने जनप्रतिनिधियों से करें कार्यकर्ता- योगी आदित्‍यनाथ
  2. बुंदेलखण्ड के लिए सिंचाई की सभी बड़ी योजनाओं की समीक्षा हो- मुख्‍यमंत्री
  3. योगी ने कहा, अब आप सत्ता में हैं, धरना-प्रदर्शन आपका काम नहीं है.
झांसी: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ताओं को विकास कार्यो में कोई गड़बड़ी होने पर कानून हाथ में ना लेने की हिदायत देते हुए कहा कि वे गलत काम की शिकायत केवल अपने जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों से ही करें. इससे सरकार बेहतर ढंग से काम कर सकेगी.

योगी ने अपने बुंदेलखण्ड दौरे के दौरान यहां भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, 'कानून को हाथ में मत लीजिये. आप केवल अपने जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों को गलत कार्य के बारे में बताइये. बुंदेलखण्ड के लिए सिंचाई की सभी बड़ी योजनाओं की समय-समय पर समीक्षा करें और उसकी रिपोर्ट संबंधित मंत्री और मुख्यमंत्री कार्यालय को दें. अगर आप यह काम करेंगे तो हम बेहतर कार्य कर सकेंगे'. उन्होंने कहा, 'विपक्ष में तो धरना-प्रदर्शन सब चलता था, मगर अब आप सत्ता में हैं, अब धरना-प्रदर्शन आपका काम नहीं है. आपका काम है शासन की योजनाओं का प्रचार करना.'

बुंदेलखण्ड के विकास के लिए अपनी योजनाओं का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार बुंदेलखण्ड को छह लेन की सड़क के जरिये नई दिल्ली से जोड़ने की नई योजना पर काम कर रही है. इसका मतलब होगा बुंदेलखण्ड में उद्योगों से आने वाले पांच सालों में यहां के लाखों नौजवानों को रोजगार मिलेगा. इससे यहां से पलायन रूकेगा.

उन्होंने 'गरीबी हटाओ' का नारा देने वाली कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा, 'जब मोदी जी प्रधानमंत्री बने, तो करोड़ों लोगों के पास बैंक खाता नहीं था. आज 28 करोड़ लोगों के जन-धन खाते खुल चुके हैं, जो लोग देश में गरीबी हटाओ की बात करते थे, उन्होंने इन लोगों के लिये कोई नीति नहीं बनाई थी. कोई समाजवाद के नाम पर वामवाद के नाम पर समाज को बांटता था, लेकिन योजनाओं का लाभ समाज तक नहीं पहुंचता था'.

योगी ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे अपनी तैयारी को संगठनात्मक दृष्टि से आगे बढ़ाएं. हर वर्ग को अपने साथ जोड़ें, किसी भी तरह का कोई दुराव ना हो. अगर सबको जोड़ें तो यह ऐसी राष्ट्रवादी व्यवस्था का चेहरा हो सकता है जहां हर कोई अपनी बात कह सकेगा. (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement