वाराणसी में किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ किया प्रदर्शन, धरना दिया

किसान दिल्ली जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं जाने दिया, ज्ञापन देने के लिए प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय भी नहीं जाने दिया

वाराणसी में किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ किया प्रदर्शन, धरना दिया

वाराणसी में धरना देते हुए किसान.

वाराणसी:

वाराणसी (Varanasi) में सरदार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरएस पटेल के नेतृत्व में सैकड़ों किसान (Farmers)  एमएसपी और कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध करते हुए सड़कों पर निकले. वे दिल्ली (Delhi) जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं जाने दिया. इस पर उन्होंने धरना दिया. आरएस पटेल के मुताबिक यह सभी किसान चंदौली जिले से निकलकर दिल्ली जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें दिल्ली नहीं जाने दिया. इस पर किसान प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय पहुंचे. वे वहां अपना ज्ञापन देना चाहते थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें वहां नहीं जाने दिया. 

इसके बाद किसान वाराणसी के भगवानपुर इलाके में धरने पर बैठ गए. किसान तकरीबन तीन चार घंटे धरने पर बैठे रहे. बाद में पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया.


गौरतलब है कि दिल्ली में किसान 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकाल रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि किसान (Farmer) गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर दिल्ली (Delhi) में आ सकते हैं लेकिन गणतंत्र दिवस परेड को डिस्टर्ब नहीं होने देंगे. रैली पूरी शांतिपूर्ण होगी. ट्रैक्टर रैली को डिस्टर्ब करने के भी इनपुट  मिले हैं. किसान रैली को डिस्टर्ब करने के लिए 308 पाकिस्तान से ट्विटर हैंडल मिले हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली पुलिस के इंटेलिजेंस के स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक ने कहा कि पुलिस ट्रैक्टर रैली के मूवमेंट को सही तरीके से गाइड करेगी. यह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है. तमाम जरूरी इंतजाम में सब लगे हैं. मेडिकल या कोई हादसा हो जाए तो उससे निपटने के इंतजाम हो रहे हैं. गौरतलब है कि कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसान 26 जनवरी को दिल्ली एनसीआर में ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) निकालने वाले हैं. किसानों के इस कदम को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इसमें पुलिस खुद फैसला ले कि उसे क्या करना है.