NDTV Khabar

अर्धकुंभ 2019: दिगंबर अखाड़े के टेंट में लगी आग, कोई हताहत नहीं, राहत बचाव कार्य जारी

टेंट में आग लगने की घटना के बाद राहत और बचाव कार्य शुरू किया गया. इस घटना में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. सिलेंडर के फटने से लगी आग
  2. समय रहते पाया गया आग पर काबू
  3. आग में किसी के हताहत नहीं
प्रयागराज:

प्रयागराज में चल रहे अर्धकुंभ (Kumbh Mela 2019) में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एकाएक एक टेंट में आग लग (Fire in a Tent at Kumbh)  गई. टेंट में आग लगने की घटना के बाद राहत और बचाव कार्य शुरू किया गया. इस घटना में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार आग सिलेंडर में हुए धमाके की वजह से लगी थी. दिगंबर अखाड़े के टेंट में लगी इस आग पर समय रहते काबू पा लिया गया. प्रयागराज पुलिस के अनुसार आग कुंभ (Kumbh Mela 2019) के सेक्टर 16 में लगी थी. टेंट की आग को (Kumbh Mela 2019) आसपास के टेंटों तक फैलने से रोकने के लिए दमकल विभाग की गाड़ियां मौके पर काम कर रही है. 

यह भी पढ़ें: हाथी-घोड़े और बैंड बाजे के साथ निकली शम्भू पंचायती अटल अखाड़ा की पेशवाई


गौरतलब है कि अर्धकुंभ में कल से यानी मंगलवार से शाही स्नान शुरू होगी. इस बार कुंभ में पहले की तुलना में काफी ज्यादा इंतजाम किए गए हैं. अकसर कुंभ में लोगों के बिछड़ने की घटनाएं सामने आती हैं. इस बार प्रशासन ने इसे लेकर विशेष इंतजाम किए हैं. 15 जनवरी से चार मार्च तक चलने वाले अर्धकुंभ (Kumbh Mela 2019) के लिए भारत के टॉप ट्रेंडिंग सोशल मीडिया एप वीलाइक (WeLike) ने 'वीलाइक एट कुंभ' नामक पहल की है. इसके तहत एप अपने प्लेटफॉर्म पर न सिर्फ लाइव फीड्स/कंटेंट उपलब्ध कराएगा, बल्कि कुंभ में उपस्थित आगंतुकों के लिए शिविरों/गतिविधियों की मेजबानी करेगा. कंपनी की ओर से जारी बयान के अनुसार, 'वीलाइक-देश का सोशल मीडिया' के पहले से ही एक करोड़ उपयोगकर्ता हैं.इसने स्वच्छ भारत अभियान के लक्ष्य को देखते हुए सहयोग करने का निर्णय लिया है.

यह भी पढ़ें: कुंभ मेले से जुड़ेंगे 12 करोड़ से अधिक तीर्थयात्री, 450 वर्षों बाद मिलेगा भक्तों ये खास मौका

वीलाइक की टीम डिस्पोजेबल थैलों के साथ मौके पर मौजूद रहेगी और वहां पर्यटकों द्वारा छोड़े गए अपशिष्ट पदार्थो को इकट्ठा कर बाद में उन्हें उनके अनुसार नष्ट करेगी. बयान के अनुसार, एक अन्य पहल 'स्टे सेफ एंड स्टे कनेक्टेड' अभियान यह सुनिश्चित करेगा कि लोग अपनों से न बिछड़ें. इसके जरिए यह भी बताया जाएगा कि वे वीलाइक एप का उपयोग कर तकनीक के समकालीन दिख सकते हैं.बयान में कहा गया है कि इस पहल का उद्देश्य साल के सबसे बड़े अर्धकुंभ के दौरान स्वच्छता को बढ़ावा देने और आगंतुकों की सुरक्षा करना है. इसके अलावा, वीलाइक कुंभ में आए तीर्थयात्रियों के लिए पेयजल आपूर्ति (प्याऊ सेवा) भी करेगा. भारत में बना सोशल मीडिया एप वीलाइक देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रमुख परियोजना 'मेक इन इंडिया' से प्रेरित है.

 

 

 

 

 

टिप्पणियां

 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement