रोड एक्सीडेंट में घायल शख्स जब जिला अस्पताल पहुंचा तो नहीं थी बिजली, स्टाफ ने मोबाइल की फ्लैशलाइट में लगा दिये टांके

फिरोजाबाद से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां जिला अस्पताल में एक रोड एक्सीडेंट से पीड़ित शख्स के मोबाइल की फ्लैशलाइट में टांके लगाए गए.

रोड एक्सीडेंट में घायल शख्स जब जिला अस्पताल पहुंचा तो नहीं थी बिजली, स्टाफ ने मोबाइल की फ्लैशलाइट में लगा दिये टांके

पीड़ित शख्स के मोबाइल फ्लैशलाइट में लगाए टांके

खास बातें

  • मेडिकल स्टाफ ने मोबाइल की फ्लैशलाइट में लगाए टांके
  • जिला अस्पताल में नहीं थी बिजली, इनवर्टर निकला डिसचार्ज
  • पीड़ित का बेटा बोला- डॉक्टर अपने रूम में मौजूद नहीं थे
यूपी:

फिरोजाबाद से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां जिला अस्पताल में एक रोड एक्सीडेंट से पीड़ित शख्स के मोबाइल की फ्लैशलाइट में टांके लगाए गए. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि अस्पताल में बिजली नहीं थी. पीड़ित के बेटे मनोज कुमार ने शनिवार को एएनआई को बताया, 'मेरे पिता रोड एक्सीडेंट में घायल हो गए थे इसलिए हम उन्हें अस्पताल लेकर आए. अस्पताल के स्टाफ ने उनके मोबाइल की फ्लैशलाइट में टांके लगाए. जब मैं अपने पिता को अस्पताल में लेकर आया तब डॉक्टर अपने रूम में मौजूद नहीं थे.'

ट्रैफिक तोड़ना अपनी शान समझने वाले सावधान, जरूर पढ़ें ये 12 नियम, बाद में न कहना पता नहीं था

पीड़ित शख्स के माथे पर चोट लगी थी. मेडिकल स्टाफ ने उनके टांके लगाए और एक शख्स ने मोबाइल से फ्लैशलाइट दिखाई. इस मामले में ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर अभिषेक ने कहा, 'उस समय हॉस्पिटल में बिजली नहीं थी इसलिए मोबाइल की फ्लैशलाइट में ट्रीटमेंट दिया गया.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

टेक्सास में गोलीबारी में कम से कम पांच लोगों की मौत, 21 लोग घायल

 अभिषेक ने कहा, 'हॉस्पिटल में एक इनवर्टर है लेकिन वह डिसचार्ज हो गया था. इस मामले में सीएमओ को सूचना देंगे.'