NDTV Khabar

डॉक्टर ने 6 महीने पहले कर दी थी पत्नी की हत्या, लेकिन सोशल मीडिया पर दिखाता रहा जिंदा और...

डॉक्टर के साथ दो अन्य लोग भी गिरफ्तार किये गये. डॉक्टर ने पत्नी के रिश्तेदारों को गुमराह करने के लिए उसका सोशल मीडिया एकाउण्ट महीनों सक्रिय रखा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डॉक्टर ने 6 महीने पहले कर दी थी पत्नी की हत्या, लेकिन सोशल मीडिया पर दिखाता रहा जिंदा और...

डॉक्टर ने अपने साथियों के साथ मिलकर पत्नी की हत्या कर दी थी.

गोरखपुर:

गोरखपुर में एक डॉक्टर को उसकी दूसरी पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. डॉक्टर के साथ दो अन्य लोग भी गिरफ्तार किये गये. डॉक्टर ने पत्नी के रिश्तेदारों को गुमराह करने के लिए उसका सोशल मीडिया एकाउण्ट महीनों सक्रिय रखा. उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स के महानिरीक्षक अमिताभ यश ने बताया कि एसटीएफ ने राजेश्वरी श्रीवास्तव की हत्या के सिलसिले में पिछले सप्ताह डॉ डीपी सिंह और उसके दो साथियों प्रमोद कुमार सिंह एवं देशदीपक को गिरफ्तार किया. राजेश्वरी श्रीवास्तव गोरखपुर से लापता थी उसके भाई अमर प्रकाश श्रीवास्तव ने शाहपुर थाने में उसके लापता होने या अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करायी थी. जांच के दौरान पता चला कि डॉक्टर ने दो साथियों की मदद से दूसरी पत्नी की हत्या जून 2018 में नेपाल में की थी. 

बेटी ने दूसरी जाति के लड़के से की शादी तो मां-बाप ने ही की हत्या, शव को जलाकर राख को नहर में बहाया


पहले उन्होंने राजेश्वरी को शराब और नशे की दवाइयां दीं और बाद में नेपाल के पोखरा की एक पहाड़ी से उसे नीचे ढकेल दिया. नेपाल पुलिस ने उसका शव बरामद कर पोस्टमार्टम कराया था. आईजी ने बताया कि आरोपी ने हत्या के सात महीने बाद तक पत्नी का सोशल मीडिया एकाउण्ट सक्रिय रखा और उसे लगातार अपडेट करता रहा. राजेश्वरी 2011 में अपने पिता के साथ डॉ डीपी सिंह के क्लीनिक में इलाज के लिए गयी थी. उसी वर्ष उसने डॉक्टर से गोण्डा में विवाह कर लिया. बाद में पति पत्नी में अकसर झगडे़ होने लगे. राजेश्वरी ने गोरखपुर के कैण्ट थाने में सिंह के खिलाफ बलात्कार का मामला भी दर्ज कराया था. फरवरी 2018 में उसने बिहार में गया के रहने वाले मनीष सिन्हा से विवाह किया, जिस पर पहले पुलिस ने शक किया था. 

10 साल के नाबालिग ने सेक्स से इनकार किया, तो 15 वर्षीय लड़के ने ले ली जान 

टिप्पणियां

पूछताछ के दौरान डॉक्टर और उसके दोनों साथियों ने कबूल किया कि उन्होंने ही नेपाल में राजेश्वरी की हत्या को अंजाम दिया. राजेश्वरी अपने दूसरे पति मनीष के साथ नेपाल गयी थी. वह वहां तीन जून तक मनीष के साथ रही. चार जून को मनीष भारत आ गया लेकिन राजेश्वरी वहीं रुकी रही. डॉक्टर अपने दो साथियों के साथ चार जून को नेपाल गया और छह जून को वापस लौट आया. मनीष पांच जून से राजेश्वरी से बात नहीं कर पा रहा था. मोबाइल पर पूरी रिंग जाने के बावजूद उसका फोन नहीं उठ रहा था. इस बीच राजेश्वरी का फोन और व्हाटसऐप चालू रहे. अंतत: चार अक्तूबर को रात लगभग साढे़ ग्यारह बजे उसका व्हाट्सऐप बंद हुआ.  

बिहार में अपराध बेलगाम: अब मुजफ्फरपुर में ट्रैक्टर ड्राइवर की हत्या कर झाड़ियों में फेंका



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement