NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश से 12 लोगों की मौत, कोटद्वार में ताश के पत्ते की तरह ढहा घर

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कई जिलों में बारिश की वजह से जन-जीवन अस्त व्यस्त है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश से 12 लोगों की मौत, कोटद्वार में ताश के पत्ते की तरह ढहा घर

यूपी और उत्तराखंड में बारिश की वजह से जन जीवन अस्त-व्यस्त है.

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कई जिलों में बारिश की वजह से जन-जीवन अस्त व्यस्त है. उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश से चारों ओर पानी ही पानी दिख रहा है. नदियां उफान पर हैं. दो लोगों की मौत हो गई है. हल्द्वानी में गौला नदी भी उफन रही है और पिछले कुछ दिनों में कई लोग नदी के तेज़ बहाव की चपेट में आ गए. हालांकि 24 घंटे नदी किनारे तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें बचा लिया. इसी कोटद्वार में भारी बारिश की वजह से नदी किनारे बना एक घर चंद सेकंड में ताश के पत्तों की तरह भरभरा कर नदी में गिर गया. वन विभाग की चौकी भी ज़मींदोज़ हो गई. उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां विभिन्न इलाको में वर्षा जनित हादसों में कल शाम तक 24 लोगों की मौत गई. 

दक्षिण भारत में 40 प्रतिशत जिले में कम बारिश हुई : मौसम विभाग 

उप्र राहत आयुक्त कार्यालय से कल शाम जारी एक बयान के मुताबिक पिछले 24 घंटो में राज्य के विभिन्न जिलों में दस लोगो की मौत भारी बारिश के कारण हुये हादसों में हुई. उनमें आज दो लोगों की बहराइच में तथा एक की लखीमपुर खीरी जिले में मौते हुई. बयान के मुताबिक 25 अगस्त को बस्ती में दो, जबकि कुशीनगर, उन्नाव, कानपुर देहात, बरेली और इलाहाबाद में एक एक व्यक्ति की मौत हुई थी. इस बीच, आंचलिक मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण-पश्चिमी मानसून की सक्रियता की वजह से पूर्वी हिस्सों में ज्यादातर स्थानों और पश्चिमी भागों में अनेक जगहों पर बारिश हुई. कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा भी हुई. इस दौरान कन्नौज में सबसे ज्यादा 24 सेंटीमीटर वर्षा रिकार्ड की गयी.

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में बह गया ऑयल टैंकर, नाव पलटने से कई लापता 

टिप्पणियां
इसके अलावा मिर्जापुर में 17, मुसाफिरखाना तथा पट्टी में 14-14, ठाकुरद्वारा में 12, अलीगंज, भोगांव, छिबरामऊ, फूलपुर और चुनार में 11-11, बिलारी में 19, मिश्रिख और वाराणसी में नौ-नौ, अयोध्या तथा बहेड़ी में आठ-आठ, नवाबगंज, बाराबंकी, सफीपुर तथा बहराइच में सात-सात सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गयी, अगले 24 घंटों के दौरान भी राज्य के अनेक स्थानों पर वर्षा होने का अनुमान है. इस बीच, केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक घाघरा नदी एल्गिनब्रिज (बाराबंकी), अयोध्या तथा तुर्तीपार (बलिया) में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. वहीं, शारदा नदी का जलस्तर पलियाकलां (लखीमपुर खीरी) में लाल चिह्न के ऊपर बना हुआ है. 

केरल में भारी बारिश और बाढ़ का यह है कारण; नासा ने किया खुलासा, देखें VIDEO


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement