NDTV Khabar

मायावती से बहुत प्यार, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा : चंद्रशेखर रावण

यूपी में हिंसा के मामलों में रासुका में पिछले एक साल से जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण रिहा हुए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मायावती से बहुत प्यार, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा : चंद्रशेखर रावण

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण को जेल से रिहा कर दिया गया है.

खास बातें

  1. कहा- अगर महागठबंधन बीजेपी को हराएगा तो उसका साथ दूंगा
  2. बीजेपी को मुझे बाहर निकालना सबसे भारी पड़ेगा
  3. थोड़ा ज्ञानी, थोड़ा तीखा और गुस्सैल हूं, इसलिए रावण नाम दिया गया
नई दिल्ली: यूपी में हिंसा के मामलों में रासुका की वजह से पिछले एक साल से जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण को यूपी पुलिस ने रिहा कर दिया है. बाहर आने के बाद चंद्रशेखर ने NDTV से कहा मायावती मेरी बुआ हैं, हमारा खून एक है. मायावती से बहुत प्यार है, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा.

चंद्रशेखर को शुक्रवार तड़के करीब पौने तीन बजे रिहा किया गया. वह बीते साल भर से सहारनपुर की जेल में बंद थे. चंद्रशेखर रावण ने NDTV को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि 'मैं बाहर आ गया हूं. अब बीजेपी को बताऊंगा. कुछ भी करूंगा पर बीजेपी को जीतने नहीं दूंगा. मुझे जल्दी निकालकर हमारे समाज के लोगों के साथ ढोंग कर रहे हैं. मुझे बाहर निकालना सबसे भारी पड़ेगा. मैं डरता नहीं हूं किसी से, पहले अंदर डालो फिर निकालो, हमारा समाज सब समझता है. नागपुर से देश नहीं चलने दूंगा.'

चंद्रशेखर से यह पूछने पर कि क्या आप मायावती को समर्थन करेंगे? उन्होंने कहा- मैं खुद चुनाव नहीं लड़ूंगा, मैं राजनीति नहीं करूंगा. मायावती मेरी बुआ हैं, हमारा खून एक है. मैं देखूंगा कि किसने क्या कहा. मायावती से बहुत प्यार है, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा.

यह भी पढ़ें : भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण की रिहाई क्या मायावती के लिये खतरा है?

सवाल- आप बीजेपी को हराने की बात कर रहे हैं तो क्या आप महागठबंधन का साथ देंगे? पर उन्होंने कहा- हां बिल्कुल दूंगा. अगर महागठबंधन बीजेपी को हराएगा तो बिल्कुल दूंगा. मैं लखनऊ क्या, पूरे देश में बीजेपी को हराने के लिए रैली करूंगा.

यह पूछने पर कि आपको लोग रावण क्यों कहते हैं? चंद्रशेखर ने कहा- वो तो लोगों ने विलेन बना दिया मुझे. पर मुझे रावण नाम किसी परिवार के आदमी ने दिया था, क्योंकि मैं थोड़ा ज्ञानी हूं, थोड़ा तीखा हूं, गुस्सा भी आ जाता है. मुझे रावण किसने कहा सबसे पहले, यह नहीं बताऊंगा. पर लोगों ने कहा कि रावण मुझे सूट करता है.

टिप्पणियां
VIDEO : जेल से निकले चंद्रशेखर ने कहा- अब बीजेपी को बताऊंगा

अभी तक यह बात स्पष्ट नहीं हो पाई है कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर रावण पर से रासुका हटाया गया है या नहीं. मगर पुलिस की ओर से जो बयान जारी हुआ है, उसके मुताबिक, चंद्रशेखर को उनकी मां की वजह से रिहा किया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement