NDTV Khabar

'बनावटी समाजवादियों' से सावधान रहें, नेताजी हमारे साथ : अखिलेश यादव

अखिलेश ने कहा कि पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद उनके साथ बना रहेगा और वह उनके आंदोलन को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे.

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बनावटी समाजवादियों' से सावधान रहें, नेताजी हमारे साथ : अखिलेश यादव

अखिलेश का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब मुलायम सिंह द्वारा नई पार्टी का ऐलान करने की अटकलें हैं...

लखनऊ: समाजवादी पार्टी की अंदरुनी कलह एक बार फिर से जोर पकड़ रही है. इसी बीच पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को इशारों-इशारों में चाचा शिवपाल यादव पर निशाना साधते हुए कार्यकर्ताओं को 'बनावटी समाजवादियों' से सावधान रहने की हिदायत दी. उन्होंने कहा कि पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद उनके साथ बना रहेगा और वह उनके आंदोलन को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे. अखिलेश ने सपा के आठवें प्रान्तीय अधिवेशन को सम्बोधित करते हुए कहा, "कई बार लोग सवाल उठाते हैं....मैं उनसे यही कहना चाहता हूं कि नेताजी (मुलायम) हमारे पिता तो रहेंगे ही, उनका आशीर्वाद भी बना रहेगा, तो हम समाजवादी आंदोलन को बढ़ाएंगे और नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे."

पूर्व मुख्यमंत्री ने शिवपाल यादव गुट पर निशाना साधते हुए किसी का नाम लिये बगैर कहा, "हम यह भी कहना चाहेंगे कि हमें बनावटी समाजवादियों से सावधान रहना है. मैं बनावटी समाजवादियों के लिये कहना चाहूंगा कि उन्होंने कई कोशिशें और साजिशें कीं कि समाजवादी आंदोलन थम जाए. वे एक साजिश में तो कामयाब हो गए कि हम सत्ता में नहीं आ पाए लेकिन अब सभी समाजवादियों की आंख खुल गई है और अब वे भविष्य में किसी भी साजिश में कामयाब नहीं हो सकते."

पढ़ें: वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी ने साधा अखिलेश यादव पर निशाना- वे नहीं चाहते थे बेघरों को घर मिले

अखिलेश का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब मुलायम सिंह यादव द्वारा नई पार्टी बनाने का ऐलान करने की अटकलें हैं. कार्यक्रम में मुलायम और अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी चाचा शिवपाल उपस्थित नहीं थे.

यह भी पढ़ें: मुलायम सिंह यादव ने रामगोपाल यादव को लोहिया ट्रस्ट के सचिव पद से हटाया

अखिलेश ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा रिक्त की गई गोरखपुर और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा छोड़ी गयी फूलपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान करते हुए कहा, 'फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव मजबूती से लडना है. जीते तो अच्छा संदेश जाएगा. चुनाव का परिणाम जब आपके पक्ष में होगा तब वह संदेश केवल वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए ही नहीं बल्कि 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए भी होगा. आपको पूरी ईमानदारी और मेहनत से जनता के बीच जाकर भाजपा सरकार की नाकामियों को बताना होगा.'

VIDEO : अखिलेश ने मनाया चाचा रामगोपाल का जन्मदिन, नहीं पहुंचे मुलायम सिंह


सपा अध्यक्ष ने अपने नेताओं तथा कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि हमारे समाजवादी साथियों की जिम्मेदारी बनती है कि वे इस प्रदेश और देश को बचाएं. अधिवेशन में नरेश उत्तम पटेल को सर्वसम्मति से सपा का प्रदेश अध्यक्ष एक बार फिर चुन लिया गया. राजनीतिक एवं आर्थिक प्रस्ताव को सर्वसम्मति से मंजूरी दी गई.  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement