मायावती के करीबी रहे पूर्व IAS अधिकारी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी,करोड़ों की संपत्ति जब्त 

नेतराम (Former IAS Officer Netram)  बसपा प्रमुख मायावती के मुख्यमंकसन काल मे कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे थे. आयकर अधिकारियों ने उप्र कैडर के 1979 बैच के पूर्व आईएएस अधिकारी से जुड़े करीब एक दर्जन परिसरों की तलाशी ली.

मायावती के करीबी रहे पूर्व IAS अधिकारी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी,करोड़ों की संपत्ति जब्त 

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के पूर्व आईएएस अधिकारी नेतराम (Former IAS Officer Netram) के घर पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है. आयकर विभाग ने अपनी छापेमारी में नेतराम (Former IAS Officer Netram) के घर से 1.64 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है. इसके अलावा छापेमारी के दौरान 50 लाख रुपये की कीमत के मो ब्लां पेन, चार कार और 300 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज भी कब्जे में लिया है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को इस पूरे छापेमारी की जानकारी दी. बता दें कि नेतराम (Former IAS Officer Netram)  बसपा प्रमुख मायावती के मुख्यमंकसन काल मे कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे थे. आयकर अधिकारियों ने उप्र कैडर के 1979 बैच के पूर्व आईएएस अधिकारी से जुड़े करीब एक दर्जन परिसरों की तलाशी ली.

PM मोदी ने ट्वीट कर विपक्षी नेताओं से की खास अपील तो अखिलेश यादव बोले- दिल खुश हुआ

विभाग को विश्वसनीय जानकारी मिली थी कि पूर्व शीर्ष नौकरशाह और उनके सहयोगियों ने नोटबंदी के बाद और उससे पहले कोलकाता की मुखौटा कंपनियों के नाम पर 95 करोड़ रुपये की फर्जी प्रविष्टियां दिखाईं. उन्होंने कहा कि 26 घंटों से अधिक की तलाशी के बाद, विभाग ने लखनऊ और दिल्ली के तीन घरों से 1.64 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की जबकि माना जा रहा है कि 50 लाख रुपये एक बैंक लॉकर में रखे हैं जिसे जल्द खोला जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

PM मोदी ने ट्वीट कर राहुल गांधी, ममता बनर्जी, मायावती, अखिलेश यादव और तेजस्वी यादव से की यह अपील

अधिकारियों ने कहा कि पूर्व नौकरशाह एक पार्टी से लोकसभा चुनाव की टिकट पाने की बातचीत में लगे थे और इसीलिए वह आयकर विभाग की जांच के दायरे में आए. अधिकारियों ने 30 मुखौटा कंपनियों से संबंधित दस्तावेज भी बरामद किये और उनकी जांच की जा रही है. इन कंपनियों में नेतराम के परिजनों और ससुराल के लोगों की हिस्सेदारी है. छापेमारी में दिल्ली (केजी मार्ग और जीके 1) और मुंबई (चरनी रोड और हुगेस रोड) के पॉश इलाकों में छह संपत्तियों तथा कोलकाता के तीन घरों का पता चला है. इन संपत्तियों को 95 करोड़ रुपये के अवैध धन से खरीदा गया था. नेतराम 2003-05 के दौरान उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री के सचिव थे. यह अधिकारी उत्तर प्रदेश में आबकारी, गन्ना उद्योग विभाग, डाक एवं पंजीकरण, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभागों के प्रमुख रह चुके हैं.  (इनपुट भाषा से)