NDTV Khabar

वाराणसी में पीएम मोदी और सरकार के खिलाफ विपक्ष का संयुक्त प्रदर्शन, बड़े आंदोलन की चेतावनी

शहर के मैदागिन इलाके में स्थित टाऊन हॉल से जुलूस के शक्ल में लहुराबीर चौराहे पर चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति तक पैदल मार्च भी निकाला गया

12.8K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
वाराणसी में पीएम मोदी और सरकार के खिलाफ विपक्ष का संयुक्त प्रदर्शन, बड़े आंदोलन की चेतावनी

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में विरोध प्रदर्शन

खास बातें

  1. कांग्रेस, सपा और आम आदमी पार्टी का प्रदर्शन
  2. पीएम मोदी और सरकार के खिलाफ मार्च
  3. सरकार की नीतियों के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी
वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सभी विपक्षियों पार्टियों ने विरोध प्रदर्शन किया. शहर के मैदागिन इलाके में स्थित टाऊन हॉल से जुलूस के शक्ल में लहुराबीर चौराहे पर चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति तक पैदल मार्च भी निकाला गया और सरकार की तमाम नीतियों के खिलाफ बड़े आंदोलन की चेतावनी दी. आम आदमी पार्टी के संजीव सिंह ने कहा 'काशी परिवर्तन चाहती है और जब काशी परिवर्तन लेती है तब पूरा देश परिवर्तन चाहता है. पूरा देश झूठ और जुमलों से आजादी चाहता है. पूरा देश माँ गंगा को ठगने वाले लोग से बचना चाहता है.' 

पढ़ें : पीएम मोदी 22 सितंबर को महामना एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे

आपको बता दें कि इसमें शामिल लोगों के हाथों में गौरी लंकेश की तस्वीर वाली तख्ती. अस्पतालों में बच्चों के मौत के बैनर, पेट्रोल की बढ़ती कीमत का स्लोगन, गंगा सफाई का मुद्दा, झूठ से आजादी के बैनर थे. जुलूस के बाद सभा हुई जिसमें इसे आंदोलन की शुरूआत करने की बात कही गई.

वीडियो : वाराणसी में पान थूकना पड़ सकता है भारी
गौरतलब है कि पेट्रोल की बढ़ती कीमतें और पीएम का संसदीय होते हुए भी वाराणसी की दशा में कोई खास सुधार न देखकर विपक्ष इसको बड़ा मुद्दा बनाना चाहता है. इसके साथ ही विपक्षी दलों की यह भी रणनीति है कि पीएम को उनके संसदीय क्षेत्र में घेर कर बड़ी चुनौती दी जा सके ताकि 2019 तक अच्छा खासा माहौल हो सके. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement