Kartik Purnima 2018 : कार्तिक पूर्णिमा के दिन काशी के पावन घाटों पर दिखा अद्भुत नजारा, देखें तस्वीरें...

कार्तिक पूर्णिमा (kartik Purnima 2018) आज यानी शुक्रवार को पूरे देश में धूमधाम से मनाई जा रही है. कार्तिक पूर्णिमा (kartik Purnima) को त्रिपुरी पूर्णिमा या गंगा स्नान के नाम से भी जाना जाता है

Kartik Purnima 2018 : कार्तिक पूर्णिमा के दिन काशी के पावन घाटों पर दिखा अद्भुत नजारा, देखें तस्वीरें...

खास बातें

  • पूरे देश में धूमधाम से मनाई जा रही है कार्तिक पूर्णिमा
  • कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है
  • आज काशी के घाटों पर अद्भुत नजारा देखने को मिला
वाराणसी:

कार्तिक पूर्णिमा (kartik Purnima 2018) आज यानी शुक्रवार को पूरे देश में धूमधाम से मनाई जा रही है. कार्तिक पूर्णिमा (kartik Purnima) को त्रिपुरी पूर्णिमा या गंगा स्नान के नाम से भी जाना जाता है. आज के दिन वाराणसी (Varanasi) के घाटों पर आस्था और श्रद्धा का अभूतपूर्व नज़ारा देखने को मिला. काशी के पावन घाटों पर शुक्रवार सुबह से ही लाखों की संख्या में दूर-दराज से आये श्रद्धालु गंगा स्नान के लिए पहुंचे. बता दें कि कार्तिक मास की पूर्णिमा पर गंगा स्नान का विशेष महत्व है. 
 

mn8qdcvo

सूर्य की पहली किरण के साथ हर कोई मां गंगा में डुबकी लगा कर पुण्य कमाना चाहता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, आज का दिन विशेष फल दायक है.  
 
q4vm22eo

पर्वों की नगरी वाराणसी में हर त्योहार का एक विशेष महत्व रहा है और स्कन्द पुराण की मानें तो आज के दिन स्वर्ग से देवतागण पृथ्वी पर आते हैं. इसलिए काशी में मां गंगा में स्नान और पूजन करने से शिव के संग भगवान् विष्णु भी प्रसन्न होते हैं. 
 
5big8h48

आज के इस पावन अवसर पर गंगा स्नान से भोग और मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है. भक्तों की भारी भीड़ इस विश्वास के साथ ही यहां आई है. 
 
vlt13ph8

कार्तिक पूर्णिमा का महत्व (Kartik Purnima Importance)
कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा (Tripura Purnima) और गंगा स्नान की पूर्णिमा (Ganga Snan Purnima) भी कहते हैं. मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव ने राक्षस त्रिपुरासुर का वध किया था. इसी वजह से इसे त्रिपुरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. इसी के साथ कार्तिक पूर्णिमा की शाम भगवान विष्णु का मत्स्य अवतार उत्पन्न हुआ था. साथ ही कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करना बेहद शुभ माना जाता है. मान्यता है कि गंगा स्नान के बाद किनारे दीपदान करने से दस यज्ञों के बराबर पुण्य मिलता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com