NDTV Khabar

बागपत में मिली हड़प्पाकाल की सबसे बड़ी कब्रगाह, शव के साथ सोने-तांबे की ज्वेलरी और शस्त्र भी मिले

बागपत के सनौली गांव में हड़प्पा सभ्यता की अब तक सबसे बड़ी कब्रगाह मिली है. 2 ईसा पूर्व के करीब 125 शव  मिले हैं, जिनमें कई जानवरों के शव भी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बागपत में मिली हड़प्पाकाल की सबसे बड़ी कब्रगाह, शव के साथ सोने-तांबे की ज्वेलरी और शस्त्र भी मिले

फाइल फोटो

खास बातें

  1. बागपत में मिली हड़प्पाकाल की सबसे बड़ी कब्रगाह
  2. शव के साथ सोने-तांबे की ज्वेलरी और शस्त्र भी मिला
  3. इन सभी शव का शरीर उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर है
बागपत: बागपत के सनौली गांव में हड़प्पा सभ्यता की अब तक सबसे बड़ी कब्रगाह मिली है. 2 ईसा पूर्व के करीब 125 शव  मिले हैं, जिनमें कई जानवरों के शव भी हैं. इन सभी शव का शरीर उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर है. ASI को यहां खुदाई के दौरान शव के पास कीमती चूड़िया, कटोरे और कई रोजमर्रा की चीजें मिली हैं. मोहन जोदड़ो हड़प्पा को सबसे पुरानी सभ्यता और विकसित सभ्यता माना जाता है. ऐसे में ASI को अब तक इन शवों के पास से तलवार, तीर सोने और तांबा की ज्वैलरी के सामान मिले हैं.

यह भी पढ़ें: इस पुस्तक में मिलेंगे हड़प्पा सभ्यता से जुड़े कई सवालों के जवाब

पहली नजर में ये मिस्र की मम्मी की तरह शव के पास रोजमर्रा के इस्तेमाल की चीजें और शस्त्र मिलना इशारा करता है कि पुरानी सभ्यताओं में शव को पूरे विधि विधान और पुर्नजन्म की मान्यता के मुताबिक दाह संस्कार किया जाता रहा है. बागपत के सनौली गांव में भारतीय पुरातत्व विभाग 2005 से खुदाई कर रहा है. खुदाई करने वाली जमीन को पहले बराबर करके किसान यहां खेती करते थे.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: फतेहाबाद : सरस्वती नदी से जुड़े खुदाई कार्य में हड़प्पा सभ्यता से पहले के अवशेष मिले

लेकिन ASI को पता चला कि यहां हड़प्पाकालीन अवशेष मिलने की पूरी उम्मीद है. उसी संकेत के आधार पर खुदाई की गई थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement