NDTV Khabar

बहराइच : बच्चे को घर के सामने से खींच ले गया तेंदुआ

यह देख ग्रामीणों ने शोर मचाते हुए तेंदुए का पीछा किया. करीब 800 मीटर दूर तेंदुए ने बच्चे को खेत में छोड़कर भाग गया. ग्रामीणों ने बच्चे को इलाज के लिये हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बहराइच : बच्चे को घर के सामने से खींच ले गया तेंदुआ

फाइल फोटो

बहराइच : रविवार शाम कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के मुर्तिहा रेंज स्थित गांव में घर के सामने खेल रहे बच्चे को तेंदुआ खींच ले गया. यह देख ग्रामीणों ने शोर मचाते हुए तेंदुए का पीछा किया. करीब 800 मीटर दूर तेंदुए ने बच्चे को खेत में छोड़कर भाग गया. ग्रामीणों ने बच्चे को इलाज के लिये हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया. घटना के बाद से ग्रामीण दहशत में हैं और उनमें वन विभाग कर्मचारियों के खिलाफ भारी रोष है. 

अरुणाचल प्रदेश में दिखा दुर्लभ हिम तेंदुआ- WWF

टिप्पणियां
अमृतपुर पुरैना गांव निवासी महेश कुमार राजभर का आठ वर्षीय बेटा रितेश रविवार देरशाम घर के सामने खेल रहा था. इसी दौरान अचानक वहां एक तेंदुआ आ पहुंचा. अभी रितेश कुछ समझ पाता, तेंदुए ने उसे दबोच लिया और खेतों की ओर भाग निकला. बच्चे की चीख सुनकर हरकत में आए ग्रामीणों और रितेश के परिजनों ने शोर मचाते हुए तेंदुए का पीछा शुरू किया. 

वीडियो :  मारुति-सुजुकी प्लांट में भी घुसा तेंदुआ
करीब 800 मीटर दूर गन्ने के खेत में तेंदुए ने खून से लथपथ रितेश को छोड़ दिया और जंगल में भाग गया. ग्रामीणों ने आनन-फानन में रितेश को इलाज के लिये मोतीपुर स्थित कम्युनिटी हेल्थ सेंटर पहुंचाया. जहां डॉक्टरों ने रितेश उसे मृत घोषित कर दिया. डीएफओ जीपी ने बताया कि रितेश की मौत तेंदुए के हमले से हुई है. परिवारीजनों को 10 हजार रुपये की तात्कालिक सहायता दी गई है. उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद विभाग की ओर से पांच लाख रुपये परिजनों को दिये जाएंगे.  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement