NDTV Khabar

‘प्रवासी भारतीय दिवस‘ कार्यक्रम काशी की वाहवाही का मौका : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मोदी ने वाराणसी में 937 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद कहा कि अगले साल 21 से 23 जनवरी तक काशी में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन होना है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
‘प्रवासी भारतीय दिवस‘ कार्यक्रम काशी की वाहवाही का मौका : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अगले साल जनवरी में अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में आयोजित होने वाले ‘प्रवासी भारतीय दिवस’ कार्यक्रम को दुनिया में काशी की वाहवाही का मौका करार देते हुए शनिवार को स्थानीय लोगों का इसकी तैयारी में जुटने का आह्वान किया. मोदी ने वाराणसी में 937 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद कहा कि अगले साल 21 से 23 जनवरी तक काशी में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन होना है. दुनिया में जहां भी भारतीय लोग उद्योग, राजनीति और अन्य क्षेत्र में काम करते हैं वे 21 से 23 जनवरी के बीच काशी आने वाले हैं. उन्होंने पूछा, ‘‘यह घटना काशी के लिये महत्वपूर्ण है या नहीं, इसकी तैयारी हमें करनी चाहिये कि नहीं. उनकी मेहमाननवाजी का माहौल बनना चाहिये कि नहीं. दुनिया में काशी की वाहवाही होनी चाहिये कि नहीं. मैं आपसे कहना चाहता हूं कि इसे ऐतिहासिक बनाने की तैयारी कीजिये. मैं भी काशीवासी के रूप में आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर 21 तारीख को आप सबके बीच रहूंगा.’’

मोदी ने काशी के विकास की तमाम योजनाओं का जिक्र करते हुए केन्द्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर गंगा की सफाई की आड़ में भ्रष्टाचार करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा, ‘‘पहले की सरकार की सारी व्यवस्थाएं बेकार थी. गंगा सफाई के नाम पर कितना पानी बह गया, उसका कोई हिसाब नहीं. गंगा पर संकट था लेकिन लोगों की तिजोरियां लबालब भरी रहती थीं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने गंगा को निर्मल करने का बीड़ा उठाया और यह काम तेजी से आगे बढ़ रहा है. गंगोत्री से गंगासागर तक एक साथ प्रयास चल रहे हैं. शहरों की गंदगी गंगा में ना गिरे, इसके लिये प्रबंधन किये जा रहे हैं. इसके लिये 21 हजार करोड़ रुपये की 200 से ज्यादा परियोजनाओं को स्वीकृति दी जा चुकी है. मोदी ने कहा कि काशी को 21वीं सदी की जरूरतों के हिसाब से विकसित करने के प्रयास पिछले चार वर्षों से जारी हैं. न्यू इंडिया के लिये एक नये बनारस का निर्माण हो रहा है, जिसकी आत्मा तो पुरातन ही होगी, लेकिन काया नवीन होगी. यहां के कण-कण में संस्कृति और संस्कार होंगे, लेकिन व्यवस्थाएं स्मार्ट सिस्टम से भरी होंगी. बदलते बनारस की ये तस्वीर चौतरफा दिखने भी लगी हैं. बीते चार वर्षों के दौरान यहां दसियों हजार करोड़ का निवेश हो चुका है और यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा.

उन्होंने प्रदेश की पूर्ववर्ती सपा सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि पहले की सरकार काशी के विकास में रुकावटें पैदा करती थी, लेकिन जब से राज्य में भाजपा की सरकार बनी है तब से काशी का विकास कार्य तेज हो गया है. अभी मैंने करीब एक हजार करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया है. ये 30 से अधिक परियोजनाएं सड़कों, सीवेज, पानी की सफाई, रसोई गैस और सुन्दरीकरण आदि से जुड़ी हैं.

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ‘परिवहन से परिवर्तन’ के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रही है. खासकर देश के इस पूर्वी हिस्से पर हम सबसे अधिक ध्यान दे रहे हैं. आजमगढ़ में देश के सबसे लम्बे हिस्से का शिलान्यास भी इसी विजन का हिस्सा है. काशी में श्रद्धालओं को बेहतर सुविधा देने का प्रयास भी जारी है. पंचकोसी मार्ग के विकास का काम आज से शुरू हो चुका है. काशी पर्यटन मानचित्र पर प्रमुखता से उभर रहा है. मुझे खुशी है कि काशी ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में पर्यटन को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम बढ़ावा दे रही है.

उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों के दौरान देश में मोबाइल फोन बनाने वाली फैक्ट्रियों की संख्या दो से बढ़कर 120 हो गयी है. उनमें 50 से ज्यादा उत्तर प्रदेश में हैं. ये फैक्ट्रियां चार लाख से ज्यादा नौजवानों को रोजगार दे रही हैं. ‘मेक इन इंडिया’ की तरह डिजिटल इंडिया भी रोजगार का माध्यम सिद्ध हो रहा है.

VIDEO: पीएम मोदी ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास, अखिलेश ने उठाए सवाल

टिप्पणियां
प्रधानमंत्री ने इस मौके पर पिछली मई में वाराणसी में एक पुल का हिस्सा गिरने की घटना में मारे गये लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि सहयोग और संवेदना की भावना ही काशी की विशेष पहचान है. देश और दुनिया में बनारसी व्यक्ति कहीं भी रहें, वो इन संस्कारों को कभी भूलते नहीं हैं. मोदी ने इस मौके पर ईएमयू ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. करीब 1600 यात्रियों के बैठने की क्षमता वाली यह ट्रेन बलिया और वाराणसी के बीच रोजाना चलायी जाएगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement