NDTV Khabar

'प्रधानमंत्री आवास योजना' के लिये नगर पंचायत अध्यक्ष के पति ने कथित रूप से मांगी रिश्वत, पीड़ित ने खुद को लगाई आग

बेघर होने की वजह से पीड़ित प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराने के लिये बरखेड़ा नगर पंचायत की अध्यक्ष के कार्यालय में अर्जी दी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'प्रधानमंत्री आवास योजना' के लिये नगर पंचायत अध्यक्ष के पति ने कथित रूप से मांगी रिश्वत, पीड़ित ने खुद को लगाई आग

उपजिलाधिकारी ने मामले की जांच कराने तथा पीड़ित को आवास दिलाए जाने के आदेश दिये हैं. 

खास बातें

  1. उत्तर प्रदेश के पीलीभीत की घटना
  2. उपजिलाधिकारी ने दिये जांच के आदेश
  3. 15 प्रतिशत हिस्सा पेशगी के तौर पर मांगा था
लखनऊ:

 उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में आवास उपलब्ध कराने के लिये कथित रूप से रिश्वत मांगे जाने से क्षुब्ध एक गरीब व्यक्ति ने बीसलपुर तहसील कार्यालय परिसर में आत्मदाह की कोशिश की है.  उपजिलाधिकारी वंदना त्रिपाठी ने बताया कि बरखेड़ा नगर पंचायत क्षेत्र के रहने वाले लालाराम नामक व्यक्ति ने बीसलपुर तहसील कार्यालय परिसर में मिट्टी का तेल छिड़ककर आत्मदाह का प्रयास किया लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया. उन्होंने बताया कि लालाराम का कहना है कि दो माह पहले हुई बारिश में उसका कच्चा मकान भी ढ़ह गया था. बेघर होने की वजह से उसने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराने के लिये बरखेड़ा नगर पंचायत की अध्यक्ष के कार्यालय में अर्जी दी थी. वंदना के मुताबिक लालाराम का आरोप है कि नगर पंचायत अध्यक्ष के पति जमील अहमद ने उससे आवास के लिये उपलब्ध करायी जाने वाली राशि का 15 प्रतिशत हिस्सा पेशगी के तौर पर मांगा था. 

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों से बोले PM मोदी, हमने प्रण लिया 2022 तक हर परिवार के पास हो अपना पक्का घर


रुपये न दे पाने पर उसे पात्रता सूची से बाहर कर दिया गया. लाख गुहार लगाये जाने के बावजूद जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो उसने आत्मदाह की कोशिश की. उपजिलाधिकारी ने मामले की जांच कराने तथा पीड़ित को आवास दिलाए जाने के आदेश दिये हैं. 

प्रॉपर्टी इंडिया : MIG के घर भी अब प्रधानमंत्री आवास योजना के दायरे में​

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री आवास योजना पीएम मोदी की अतिमहत्वाकांक्षी योजना है. इस योजना के तहत 2022 तक सभी बेघरों को आवास उपलब्ध करा देने का लक्ष्य है. पीएम मोदी इस योजना का बखान लगभग हर रैली में करते हैं. केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि केंद्र सरकार की उज्ज्वला, सौभाग्य और सभी गरीब परिवार को घर देने जैसी कल्याणकारी योजनाएं आने वाले चुनावों में पासा पलटने वाली सबित होगी और आम चुनावों में भाजपा नीत राजग दो तिहाई सीटों के साथ सत्ता में लौटेगी. लेकिन इतनी बड़ी योजना में अगर ऐसी ही रिश्वत का खेल जारी रहा तो न गरीबों का भला होगा और न केंद्र सरकार के दावे पूरे होंगे.

टिप्पणियां


इनपुट : भाषा से भी

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement