NDTV Khabar

नाराज होकर इस्तीफा देने वाले मंत्री से सीएम योगी ने कही यह बात..

राजभर ने मुख्यमंत्री से कहा कि जब उन्हें अपने ही विभाग से जुड़े पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग में अपने पसंदीदा लोगों को रखने का अधिकार नहीं है तो विभागीय मंत्री होने का क्या औचित्य है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नाराज होकर इस्तीफा देने वाले मंत्री से सीएम योगी ने कही यह बात..

ओपी राजभर ने योगी आदित्यनाथ को दिया था इस्तीफा

खास बातें

  1. कुछ दिन पहले दिया इस्तीफा
  2. सीएम योगी से नाराज थे मंत्री
  3. सीएम ने की मंत्री राजभर से बात
लखनऊ:

अपने पसंदीदा लोगों को अपने ही विभाग से जुड़े आयोग में जगह नहीं दिये जाने से नाराज पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर के इस्तीफे को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अस्वीकार कर दिया है. दिव्यांग कल्याण विभाग का जिम्मा भी सम्भाल रहे राजभर ने रविवार को बताया कि उन्होंने शुक्रवार रात मुख्यमंत्री से मुलाकात करके पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की जिम्मेदारी से अपना इस्तीफा उन्हें सौंपा था, जिसे योगी ने नामंजूर कर दिया. उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि जब उन्हें अपने ही विभाग से जुड़े पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग में अपने पसंदीदा लोगों को रखने का अधिकार नहीं है तो विभागीय मंत्री होने का क्या औचित्य है. राजभर ने बताया कि इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आयोग के सदस्यों की सूची भाजपा संगठन ने तैयार की थी, खुद उन्होंने नहीं. वह इस मामले को आगे देखेंगे.

यूपी के मंत्री ने फिर बोला हमला, 'पिछड़ों ने मौर्य के लिए वोट किया था, योगी के लिए नहीं'


मंत्री ने कहा कि वह पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग से इस्तीफा देने के रुख पर अब भी कायम हैं. उन्होंने बताया कि पिछड़े वर्गों के लिये आरक्षण में आरक्षण की सिफारिश लागू करने की मांग के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि वह दो-तीन दिन बाद इस बारे में बैठकर बात करेंगे. राजभर ने पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग की 27 सदस्यीय समिति में शामिल करने के लिये नामों की सूची दी थी, मगर उनमें से किसी को भी शामिल नहीं किया गया. इसके विरोध में उन्होंने पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफा देने का फैसला किया था.

उत्तर प्रदेश के मंत्री का बड़ा आरोप, 'योगी सरकार में खुद को उपेक्षित महसूस करता हूं'

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब ओपी राजभर ने योगी सरकार के खिलाफ आवाज उठाई हो. इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने जब से हनुमान जी की जाति पर बयान दिया, उसके बाद से न वो सिर्फ विपक्ष के निशाने पर थे, बल्कि वह अपने ही मंत्री के निशाने पर आ गए थे. भगवान हनुमान को दलित बताने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए राज्य के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा था कि भगवान को जातियों में बांटना गलत है. 

अयोध्या मामले पर योगी के मंत्री ने खुलकर किया अखिलेश यादव का समर्थन, CM पर बोला हमला, जानें पूरा मामला

शामली जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ने विवादित बयान देने के लिए अपनी ही सरकार की आलोचना की थी. उन्होंने कहा था कि भगवान को जातियों में बांटना गलत है और इसी विवाद की वजह से दलित समुदाय अब हनुमान मंदिरों को अपने अधिकार में लेने की मांग कर रहा है. 

यूपी के कैबिनेट मंत्री ओपी राजभर ने अपनी ही सरकार पर फिर बोला हमला, कही यह बात....

पिछले हफ्ते राजस्थान के अलवर में एक रैली को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने उक्त बयान दिया था. उनकी टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने रविवार को कहा था कि समुदाय के सदस्यों को देश के सभी हनुमान मंदिरों को अपने अधिकार में ले लेना चाहिए और वहां दलितों को पुजारी नियुक्त कर देना चाहिए.

टिप्पणियां

VIDEO: प्राइम टाइम : ओम प्रकाश राजभर की 'पीलिया' पॉलिटिक्स

(इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement