NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश: 600 करोड़ रुपये के फंड आवंटन के बाद भी गौशालाओं में मर रही हैं सैकड़ों गायें, सीएम ने अधिकारियों को किया सस्पेंड

गौशालाओं में गायों की मौत की सूचना मिलने का बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आठ अफसरों को सस्पेंड कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लखनऊ:

यूपी में सरकारी गौशालाओं में बंद सैकड़ों गाय-बैलों की मौत ने सभी का ध्यान खींचा है. सूत्रों के अनुसार गायों की मौत की मुख्य वजह इन गौशालाओं में मौजूद बदइंतजामी है. बहरहाल, गौशालाओं में गायों की मौत की सूचना मिलने का बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आठ अफसरों को सस्पेंड कर दिया है. साथ ही इन गौशालाओं में इंतजाम को बेहतर करने के आदेश भी दिए हैं. अफसरों पर सीएम की कार्रवाई के बाद भी गायों के मरने का सिलसिला जारी है. कुछ लोग तो मरने वाली गायों की संख्या सैकड़ों में बता रहे हैं. लेकिन सरकार ने अभी तो कोई आंकड़ा पेश नहीं किया. आरोप है कि ये सभी गाये चारे के आभाव और गंदगी की वजह से मरी हैं. बता दें कि गायों की मौत से इतना हंगाम इसलिए मचा है क्योंकि यूपी सरकार ने अपने बजट में गौ सेवा के लिए करीब 600 करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया था. बावजूद इसके ज्यादातर गायें बदइंतजामी की वजह से अपनी जान गंवा रही हैं. 

मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा- गंभीर नहीं हैं केंद्र और राज्य सरकारें


NDTV ने यूपी के अयोध्या और मिर्जापुर समेत कई अन्य गौशालाओं का दौरा किया जहां से गायों की मौत की खबर आ रही थी. बलिया के तहसीलदार शिवसागर दुबे ने NDTV को बताया कि चार बछड़े तो मेरे सामने ही मरे पड़े हैं. और इनकी मौत की वजह को कई बीमारी हो ऐसा नहीं लग रहा है. इन्हें देखकर यह तो साफ हो रहा है कि इनकी मौत चारे की कमी की वजह से हुई है. बता दें कि राज्य सरकार ने अपने बजट में गायों की देखभाल और रखरखाव के लिए भारी बजट का ऐलान किया था. यूपी सरकार द्वारा 2019-20 के बजट में गौ संरक्षण के लिए कुल 600 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे. इस रकम में से 250 करोड़ रुपये गांवों में जबकि 200 करोड़ रुपये शहरों में बने गौशालाओं पर खर्च होने की बात कही थी. वहीं, 165 करोड़ रुपये के करीब की रकम गायों की हिफायत के लिए खर्च किया जाना था. 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने की समीक्षा बैठक, तीन अधिकारी हुए सस्पेंड, कई का ट्रांस्फर

लेकिन इन सब के बावजूद भी गायों की मौतें हो रही हैं. और जमीनी स्तर पर इंतजाम नाकाफी ही दिख रहे हैं. लखनऊ से लगे बाराबंकी स्थित एक गौशाला में पिछले हफ्ते ही आठ गाय मर गईं. प्रशासन इन गायों की मौत की वजह इनकी बड़ी उम्र को बता रहा है जबकि गायों की देखभाल करने वालों का कहना है कि गायों की मौत खराब चारे की वजह से हुई है. उनका कहना है कि इन गायों को भूसे के अलावा खाने में कुछ भी नहीं मिलता है. जिस वजह से यहां रहने वाली ज्यादा गाये कमजोर हो रही है और बाद में उनकी मौत हो जा रही है. गायों की देखभाल करने वाले युवक ने NDTV को बताया कि यहां रहने वाली एक गाय को हर दिन पांच किलो भूसा, एक किलो चोकर, एक किलो सरसों की खली, आधा किलो बिनौल और पांच किलो हरा चारा मिलना चाहिए. लेकिन इन्हें सिर्फ भूसा ही मिल पाता है. 

जनता की समस्याओं को सुलझाने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 1076 शुरू, सीएम योगी खुद करेंगे निगरानी

बाराबंकी और सोभद्र स्थित गौशालाओं के केयर टेकर दयाराम से NDTV ने गायों की हालत को लेकर खास बात की...

सवाल: जानवर इतने कमजोर क्यों हैं? क्यों मर रहे हैं? क्या कारण है? क्या खाना पीना नहीं मिल रहा है? 

जवाब: जी हां, अगर इनको खाने में हरी खास हो ना साहेब तो और दो कौर ज्यादा खा लेती हैं. नहीं तो बहुत कम खाती हैं. यहां इतना जानवर है, अगर एक दो किलो चोकर मिले तो ठीक है. मान लोग आधा किलो भी..ताकि उनके जिस्म में ताकत आ जाए. सूखा भूसा कहां तक फाकेंगे.

वहीं, सोनभद्र के गौशालाओं को भी हाल कुछ ऐसा ही है. यहां बीते पांच महीनों में करीब 124 गाय-बैलों की मौत हो चुकी है. जल्दबाजी में बनाए गए गौशालाओं में तमाम जगह शेड तक नहीं हैं. जहां हैं वो काफी छोटे हैं. सोनभद्र स्थित एक गौशाला के केयर टेकर योगेश कुशवाहा ने NDTV से बात की.

सवाल: क्या कारण है पशुओं की मौत का? 
जवाब: देखिये, यहां पर जिन पशुओं की मौत हुई है वह पहले बाहर आवारा घूमते थे. अब उन्हें यहां लाकर बंद कर कर दिया गया. चारे की कमी की वजह से उनकी प्रतिरोधक क्षमता भी पहले से कम हुई है. बाहर से आए ज्यादातर पशुओं के पेट से प्लास्टिक मिली है. जो इनकी मौत की बड़ी वजह थी. 

टिप्पणियां

कॉन्स्टेबल ने की योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग, तो जारी हुआ बर्खास्तगी का आदेश

गौशालाओं में गायों की मौत को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने आठ लोगों को सस्पेंड भले कर दिया हो लेकिन उनकी पार्टी के एक विधायक उनसे इत्तेफाक नहीं रखते हैं. वो कहते हैं कि जो भी गायें मरी हैं वो उम्र पूरी होने की वजह से मरी हैं. बीजेपी विधायक अजय सिह के अनुसार बीते कुछ दिनों में जितनी भी गायें मरी हैं उनकी मौत की मुख्य वजह उनकी उम्र थी. मुझे लगता है चीजों को गलत तरीके से पेश की जा रही हैं. इन गायों की मौत उम्र ज्यादा होने की वजह से हुई है.  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement