मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने बेटे अखिलेश (Akhilesh Yadav) और भाई शिवपाल (Shivpal Yadav) के बीच सुलह कराने की एक बार फिर कोशिश की.

मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

मुलायम सिंह यादव बेटे अखिलेश यादव के साथ. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • मुलायम सिंह ने शुरू की परिवार को एकजुट करने की कवायद
  • मुलायम ने अखिलेश और शिवपाल सहित पूरे कुनबे से की मुलाकात
  • विधानसभा चुनाव से पहले सपा को एकजुट करने की कोशिशें
नई दिल्ली:

हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने बेटे अखिलेश (Akhilesh Yadav) और भाई शिवपाल (Shivpal Yadav) के बीच सुलह कराने की एक बार फिर कोशिश की. पार्टी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि मतभेद दूर करने के लिए पिछले कुछ दिन में मुलायम ने अखिलेश से, शिवपाल से और पूरे कुनबे से मुलाकात की. ये मुलाकातें यहां और उत्तर प्रदेश के सैफई में हुईं हैं.

यह भी पढ़ें: एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की कोशिशें हालांकि कामयाब होती नहीं दिख रही हैं, क्योंकि शिवपाल ने अपनी 'प्रगतिशील समाजवादी पार्टी' का सपा में विलय से इनकार कर दिया है. शिवपाल पिछले साल सपा से अलग हो गए थे और उन्होंने अपनी अलग पार्टी बना ली थी. उन्होंने कुनबे में फूट के लिए रिश्ते के भाई एवं पार्टी महासचिव राम गोपाल यादव को जिम्मेदार ठहराया था.

यह भी पढ़ें: अकेला हाथी किसका साथी...

सूत्रों ने बताया कि लेकिन शिवपाल को उत्तर प्रदेश में होने वाले 12 उपचुनावों में सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने से गुरेज नहीं हैं. भाजपा के 9 और सपा, बसपा से एक-एक विधायक लोकसभा चुनाव जीत गए हैं. इससे 11 सीटें खाली हुईं हैं, वहीं हत्या के मामले में भाजपा के एक विधायक को दोषी ठहराए जाने के बाद उसे अयोग्य ठहराए जाने से एक सीट रिक्त हुई है. बताया जा रहा है कि मुलायम ने अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) और शिवपाल (Shivpal Yadav) दोनों को समझाया है कि अगर परिवार एक नहीं हुआ तो इसके राजनीतिक परिणाम भुगतने पड़ सकते है.

VIDEO: यूपी में गठबंधन टूटा, रिश्ते नहीं?

(इनपुट: भाषा)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com