सड़कों पर कुर्बानी नहीं करने का मुस्लिम संगठनों का आग्रह

हालांकि, उन्होंने मुस्लिमों को एक विशेष स्थिति से पैदा होने वाली कठिनाई के बावजूद कुर्बानी (पशु बलिदान) करने को प्रोत्साहित किया है.

सड़कों पर कुर्बानी नहीं करने का मुस्लिम संगठनों का आग्रह

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ:

ईद-उल-अजहा से पहले कई जानेमाने मुस्लिम संगठनों व नेताओं ने इस्लाम के अनुयायियों से सड़कों पर जानवरों की कुर्बानी नहीं देने, स्वच्छता बनाए रखने, संयम रखने और दूसरे समुदाय के लोगों को शिकायत करने का मौका देने से बचने का आग्रह किया है. हालांकि, उन्होंने मुस्लिमों को एक विशेष स्थिति से पैदा होने वाली कठिनाई के बावजूद कुर्बानी (पशु बलिदान) करने को प्रोत्साहित किया है.

कई मुस्लिम संगठनों ने एक बयान में कहा, "इस बार एक खास तौर के हालात की वजह से आपको कुर्बानी के लिए जानवर की खरीद में कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है. सिर्फ कठिन परिस्थितियों की वजह से आपको को इस विशेष जिम्मेदारी की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए."

यह भी पढ़ें : Bakra Eid 2017: इन मैसेजेस से कहें बकरीद मुबारक, Whatsapp-Facebook पर भेजें ये संदेश

जमात-ए-इस्लामी हिंद (जेआईएच), जमीयत उलेमा-ए-हिंद (जेयूएच), ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुशवरात और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) व मर्कजी जमीयत अहले हदीस ने एक संयुक्त बयान में कहा, "कुर्बानी सड़क, फुटपाथ या रास्तों पर नहीं करें, बल्कि खुली जगहों पर करे. कृपया उच्चस्तर की स्वच्छता व सफाई सुनिश्चित करें."
VIDEO: बकरीद पर दी जाती है कुर्बानी

बयान में कहा गया, "अपने कार्यों व अपने व्यवहार से खास तौर से दूसरे धर्म में आस्था रखने वाले अपने पड़ोसियों को शिकायत करने का मौका नहीं दें. आपको संबंधों को तनावपूर्ण बनाने से बचना चाहिए और ज्यादा संयम बरतना चाहिए. आपको किसी भी परिस्थिति में कानून को अपने हाथों में नहीं लेना चाहिए."

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com