NDTV Khabar

बिजली विभाग का रुपया दबाए बैठे लोगों की अब खैर नहीं, सरकार चौराहों पर लगाएगी कट आउट और पोस्टर

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने विशेष बातचीत में कहा, 'अब बडे़ मगरमच्छों पर कार्रवाई आवश्यक हो गयी है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिजली विभाग का रुपया दबाए बैठे लोगों की अब खैर नहीं, सरकार चौराहों पर लगाएगी कट आउट और पोस्टर

फाइल फोटो

खास बातें

  1. ‘नेम एंड शेम पॉलिसी’ चलाने का बाद यह फैसला
  2. ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने किया ऐलान
  3. शर्मा ने कहा- बडे़ मगरमच्छों पर कार्रवाई जरूरी
नई दिल्ली: बिजली बिल के बडे़ बकायेदारों के खिलाफ ‘नेम एंड शेम पॉलिसी’ चलाने के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार चौराहों पर बडे़ कट आउट, पोस्टर तथा इश्तहार के जरिए उनके नाम सार्वजनिक करने की तैयारी कर रही है. प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने विशेष बातचीत में कहा, 'अब बडे़ मगरमच्छों पर कार्रवाई आवश्यक हो गयी है. बिजली के बडे़ बकायेदारों के कट आउट, पोस्टर और इश्तहार लगाने की तैयारी है. किसी एक ही क्षेत्र के पंद्रह बीस बडे़ बकायेदारों के नाम चौराहे पर एक साथ पोस्टर पर लगाये जाएंगे.' उल्लेखनीय है कि इससे पहले बडे़ बकायेदारों के खिलाफ 'नेम एंड शेम' पॉलिसी लायी गयी थी, जिसके तहत ऐसे लोगों के नाम बाकायदा अखबारों में प्रकाशित किये गए. शर्मा ने कहा, '40 हजार बड़े बकायेदारों के कनेक्शन काटे जा चुके हैं. बकायेदारों के नाम सार्वजनिक हो रहे हैं.  चौराहों पर नामों की सूची भी लगेगी.' प्रदेश के ऊर्जा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बकायेदारों को बिजली का बकाया बिल जमा करने के लिए सरकार की ओर से तमाम सरल विकल्प दिये गये. किस्तों में भुगतान की व्यवस्था की गयी. सरल विकल्पों में सरचार्ज माफी की योजना भी शामिल है. अवैध कनेक्शन को वैध करने की पेशकश भी की गयी. 

यह भी पढ़ें :  सेना की कौन सी यूनिट कहां करेगी फायरिंग, जासूस 'मेजर यादव' को ऐसी जानकारी देता था SDM का स्टेनो

उन्होंने कहा कि बडे़ बकायेदारों को राज्य सरकार की ओर से आगाह किया गया था कि वह समय रहते बकाया बिजली बिल का भुगतान कर दें. इसके बाद नेम एंड शेम पॉलिसी लायी गयी, जिसके तहत बडे़ बकायेदारों के नाम सार्वजनिक किये गये.  उन्होंने बताया कि नामों के प्रकाशन की प्रक्रिया शुरू की गयी जो 31 जुलाई तक चलायी गयी. इस पॉलिसी के तहत घरेलू और व्यावसायिक दोनों ही किस्म के कनेक्शनों को शामिल किया गया. अधिकारी ने बताया कि राज्य के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये थे कि वह राजस्व विभाग के जरिए बकायेदारों से बिल वसूलने की प्रक्रिया प्रारंभ करें. प्रदेश के ऊर्जा मंत्री कह चुके हैं कि हम दिन रात इसी कोशिश में लगे हैं कि बिजली को लेकर समस्याओं का समाधान कैसे हो और बिजली उपभोक्ता फ्रेंडली कैसे हों.

टिप्पणियां
Video : मुलायम पर भी बकाया है लाखों का बिल
उन्होंने कहा कि गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) रहने वाले परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन मिल रहा है. शर्मा ने बताया कि इसके अलावा गांव और शहर की बाकी जनता के लिए एक और बड़ा फैसला योगी आदित्यनाथ सरकार ने लिया है. बीपीएल के अलावा अन्य लोगों यानी एपीएल परिवारों के लिए आसान किस्तों में बिजली कनेक्शन उपलब्ध है. शर्मा ने कहा कि बिजली की पर्याप्त उपलब्धता होने पर भी जर्जर व्यवस्था के कारण इसका पूरा लाभ उपभोक्ताओं को नहीं मिल पा रहा है. ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जर्जर तारें, खराब ट्रांसफार्मर, गले हुए पोल, झूलती तारें हमें विरासत में मिले हैं. इन्हें बदलने के लिए व्यापक अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने कहा, जल्द ही प्रदेश में बिजली आपूर्ति सामान्य होगी. दो साल के अंदर जर्जर व्यवस्था बदल पूरे प्रदेश में 24 घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी. 

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement