नोएडा के GIP और Logix City Centre मॉल का पानी और सीवर कनेक्शन कटा, जानें वजह

नोएडा विकास प्राधिकरण ने सेक्टर 38 ए स्थित जीआईपी मॉल और सेक्टर 32 स्थित लॉजिक्स सिटी सेंटर मॉल का पानी तथा सीवर का कनेक्शन काट दिया गया है.

नोएडा के GIP और  Logix City Centre मॉल का पानी और सीवर कनेक्शन कटा, जानें वजह

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  • नोएडा के 2 बड़े मॉलों का पानी और सीवर कनेक्शन कटा
  • जीआईपी पर 14.35 करोड़ और लॉजिक्स पर 46 लाख रुपए बकाया
  • पानी की कमी से व्यापार करने वाले दुकानदारों पर आई आफत
यूपी:

नोएडा विकास प्राधिकरण ने सेक्टर 38 ए स्थित जीआईपी मॉल और सेक्टर 32 स्थित लॉजिक्स सिटी सेंटर मॉल का पानी तथा सीवर का कनेक्शन काट दिया गया है. यह कार्यवाही प्राधिकरण के जल एवं सीवर विभाग द्वारा की गयी है. जल विभाग के उप महाप्रबंधक बी एम पोखरियाल ने बताया कि जीआईपी मॉल के प्रबंधन पर प्राधिकरण का जल एवं सीवर शुल्क के तौर 14.45 करोड़ रुपये की रकम का बकाया है. उन्होंने बताया कि कई बार नोटिस देने के बावजूद भी मॉल के लोगों ने बिजली, पानी और सीवर का बिल जमा नहीं कराया, जिसकी वजह से आज कनेक्शन काट दिया गया है. 

उन्होंने बताया कि जीआईपी मॉल के ऊपर विज्ञापन लगाने के लिए नोएडा प्राधिकरण द्वारा दी गई अनुमति के एवज में करीब 6 करोड़ की फीस मॉल के प्रबंधन पर बकाया है. कई बार नोटिस देने के बावजूद भी मॉल की तरफ से कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण ने रिकवरी के लिए आज आरसी जारी किया है.

नोएडा में नाबालिग के साथ रेप, आरोपी गिरफ्तार

जीआईपी मॉल के पानी व सीवर का कनेक्शन कटने की वजह से मॉल में अपना व्यापार करने वाले दुकानदारों की आफत आ गई है और उनका कहना है कि सभी दुकानदार समय से मॉल प्रबंधन को मेंटेनेंस दे रहे हैं, लेकिन ये लोग सरकारी विभागों का देय जमा नहीं कर रहे हैं.

Newsbeep

Spice Mall Fire: नोएडा के स्पाइस मॉल में लगी भीषण आग, कोई हताहत नहीं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले भी करोड़ों का बिल बकाया होने की वजह से बिजली विभाग ने कार्रवाई करते हुए कनेक्शन काट दिया था. जीआईपी पर पानी और सीवर का 14.35 करोड़ रुपए का बिल और लॉजिक्स पर 46 लाख रुपए का बिल बकाया है. इसके अलावा नोएडा के एनएमसी हॉस्पिटल पर 46 लाख का बिल है. इसके अलावा बाकी 6 इंडस्ट्रियों पर 18 लाख, 18 लाख, 12 लाख, 21 लाख, 10 लाख और 12 लाख का बिल बकाया है.