NDTV Khabar

लूट की जांच के दौरान पुलिस ने किया समलैंगिक सेक्स रैकेट पर्दाफाश, ऐप के जरिए चल रहा था घिनौना कारोबार

आरोपी और पीड़ित ग्रेंडर नाम के एक ऐप से जुड़े हुए थे जो समलैंगिकों को जोड़ता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लूट की जांच के दौरान पुलिस ने किया समलैंगिक सेक्स रैकेट पर्दाफाश, ऐप के जरिए चल रहा था घिनौना कारोबार

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. ग्रेंजर ऐप के जरिए जुड़े थे आरोपी और पीड़ित
  2. ऐप के जरिए संपर्क कर की ती लूटपाट
  3. पुलिस ने नोएडा फेज-2 से किया 3 लोगों को गिरफ्तार
नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के नोएडा के फेज-2 में हुई एक लूट की तफ्तीश के दौरान चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. लूट के आरोप में पकड़े गए 3 बदमाशों और आरोपी से पूछताछ में नोएडा में सोशल मीडिया के माध्यम से चल रहे 'समलैंगिक सेक्स रैकेट' का पर्दाफाश हुआ है. आरोपी और पीड़ित ग्रेंडर नाम के एक ऐप से जुड़े हुए थे जो समलैंगिकों को जोड़ता है. लेकिन तीनों आरोपी ऐप के माध्यम से लोगों को अपने झांसे में फंसाकर उनके साथ लूटपाट करते थे. पुलिस ने उनके कब्जे से लूटी गई चेन, घड़ी, नगदी और मोबाइल के साथ वारदात में इस्तेमाल हुई सेंट्रों कार भी बरामद की है. 

 स्पा सेंटर में चल रहे ऑनलाइन सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, अश्लील मेन्यू कार्ड मिले

आरोपियों की पहचान विशाल, शहजाद और राहुल हैं, जो समलैंगिक सेक्स रैकेट से ग्रेंडर नाम के एक ऐप से जुड़े हुए हैं. विशाल ने पूछताछ में स्वीकार किया कि वह समलैंगिक संबंध रखने का शौकीन है. अपने शौक को पूरा करने के लिए एक साल पहले उसने अपने मोबाइल फोन में ऐप डाउनलोड किया था. 


नोएडा के सिटी एसपी विनीत जायसवाल ने बताया, 'इसी ऐप के जरिए करीब पांच महीने पहले स्टोर मैनेजर से संपर्क हुआ था और सहमति से संबंध बनाए थे. 4 सितम्बर को पीड़ित को फोन करके उसे मौके पर बुलाया गया था. उस समय उसके साथ शहजाद, राहुल और अंकुर भी थे. इस दौरान दोनों के बीच कुछ लेनदेन की बात बिगड़ी और चारों ने मारपीट कर पीड़ित का एटीएम कार्ड छीन लिया. उसके बाद इलेक्‍ट्रॉनिक टॉर्च से करंट लगा कर पिन पूछ कर उससे पैसे निकाले गए और पीड़ि‍त का मोबाइल फोन छीनकर मौके से फरार हो गए. 

टिप्पणियां

मुंबई में सेक्स रैकेट का भंडाफोड, छुड़ाई गईं थाईलैंड की छह महिलाएं

फेज-2 थाना पुलिस ने इस मामले में तीनों को गिरफ्तार कर लिया है. लूटी गई सभी चीजें बरामद कर ली गई हैं. एसपी सिटी ने बताया कि इस मामले की जांच के लिए बनाई गई टीम ने रविवार की सुबह दादरी रोड स्थित फेज-दो बस स्टैंड से तीन आरोपियों विशाल, शहजाद और राहुल को गिरफ्तार किया जबकि चौथा आरोपी अंकुर मौके से फरार हो गया. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement