NDTV Khabar

यूपी में अब मिलावटखोरों की खैर नहीं, हर जिले में बनेंगी प्रयोगशालाएं, योगी सरकार ने दिए आदेश

29 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी में अब मिलावटखोरों की खैर नहीं, हर जिले में बनेंगी प्रयोगशालाएं, योगी सरकार ने दिए आदेश

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, खाद्य पदार्थों में मिलावट मानवता के विरुद्ध जघन्य अपराध है. (फाइल फोटो)

लखनऊ : खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों की अब खर नहीं. उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ऐसा करने वालों के खिलाफ अभियान चलाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ निर्देश दिए हैं कि मिलावट करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए.

योगी ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान शुक्रवार देर रात कहा, 'खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वाले अराजक तत्वों के विरुद्ध अभियान चलाकर नियमों के तहत कड़ी से कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाए.' उन्होंने कहा, 'खाद्य पदार्थों में मिलावट मानवता के विरुद्ध जघन्य अपराध है. खाद्य पदार्थों के नमूनों के विश्लेषण के लिए प्रदेश के समस्त जिलों में प्रयोगशालायें स्थापित करायी जाएंगी. प्रथम चरण में प्रत्येक मण्डल में खाद्य पदार्थों के विश्लेषण की प्रयोगशालाएं प्राथमिकता से स्थापित कराई जाएं. वर्तमान में प्रदेश के मात्र छह जिलों लखनऊ, आगरा, गोरखपुर, वाराणसी, झांसी एवं मेरठ में प्रयोगशालाएं स्थापित हैं.

इन प्रयोगशालाओं से प्रतिवर्ष मात्र लगभग 18 हजार खाद्य नमूनों के विश्लेषण किए जाने पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए योगी ने कड़े निर्देश दिए कि खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरुद्ध अभियान चलाकर अधिक से अधिक खाद्य नमूनों का विश्लेषण करने हेतु मासिक लक्ष्य निर्धारित किया जाए.

उन्होंने कहा कि थोक एवं फुटकर औषधि लाइसेंस ऑनलाइन प्रणाली का सु़दृढ़ीकरण पारदर्शिता के साथ आगामी 100 दिन में क्रियान्वित कराया जाए. ऑनलाइन सेम्पिल मैनेजमेंट सिस्टम को विकसित कर प्रयोगशालाओं में लागू कराया जाना सुनिश्चित कराया जाए. (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement