NDTV Khabar

अपने नेता अटल बिहारी वाजपेयी को लखनऊ ऐसे देगा श्रद्धांजलि, चल रही है यह भव्य तैयारी

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए लखनऊ नें 23 अगस्त को प्रार्थना सभा का आयोजन होगा.

76 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अपने नेता अटल बिहारी वाजपेयी को लखनऊ ऐसे देगा श्रद्धांजलि, चल रही है यह भव्य तैयारी

अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि के लिए गोमती नदी के किनारे सभा का आयोजन होगा.

नई दिल्ली :

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए लखनऊ नें 23 अगस्त को प्रार्थना सभा का आयोजन होगा. भाजपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आज कहा, 'स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी का लखनऊ के साथ अटूट रिश्ता रहा है. लखनऊ उनकी भावनात्मक कर्मभूमि रही है. 23 अगस्त की शाम तीन बजे सर्व धर्म, सर्वदलीय श्रद्धांजलि प्रार्थना सभा झूलेलाल पार्क, नदवा कालेज के सामने गोमती नदी के किनारे आयोजित की गई है'. उन्होंने कहा, 'इस सभा में सभी धर्मो के गुरू, सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया जायेगा'. पाण्डेय ने कहा कि भारत रत्न वाजपेयी एक बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे. युगपुरूष अटलजी ने विगत सात दशकों तक भारत की राजनीति को प्रभावित किया और भारत की राजनीति के केन्द्र बिन्दु बने. 

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 'हनुमान' को अब तक नहीं बताई गई उनके निधन की खबर 


महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि अटल जी एक कवि हृदय, अद्भुत वक्ता, कुशल प्रशासक और करिश्माई व्यक्तित्व के धनी थे. अटल जी जैसी व्यापक, अबाध, र्निविवाद, लोकमान्यता शायद ही देश में किसी को प्राप्त हुई हो. अटल जी के निधन से एक युग का अंत हो गया है. उनका निधन सम्पूर्ण राष्ट्र के लिए अपूर्णीय क्षति है. पाण्डेय ने बताया कि कल 19 अगस्त को शाम तीन बजे लखनऊ हवाई अडडे पर 18 अस्थिकलश लखनऊ आयेंगे. अस्थिकलश भाजपा प्रदेश कार्यालय में लाया जायेगा. 20 अगस्त को प्रातः 10 बजे प्रदेश के 18 स्थानों पर प्रदेश में प्रवाहित होने वाली पवित्र नदियों में विसर्जन के लिए कलश यात्रा प्रदेश कार्यालय से रवाना की जायेगी.

मध्य प्रदेश सरकार ने वाजपेयी की स्मृति में तीन पुरस्कारों की घोषणा की, निकालेगी अटल कलश यात्रा 

कलश यात्रा के साथ प्रदेश सरकार के एक मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी यात्रा में साथ जायेंगे. उन्होंने बताया कि श्रद्धांजलि सभा में सभी धर्मो के गुरू, सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया जायेगा. श्रद्धांजलि सभा में अटल जी का परिवार, केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और लखनऊ महानगर के गणमान्य लोग शामिल होंगे. शाम को अस्थिकलश गोमती नदी में प्रवाहित किया जायेगा. पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में 25 अगस्त को एवं सभी मण्डल इकाइयों में 27 एवं 28 अगस्त को श्रद्धांजलि सभाएं आयोजित की जाएंगी. 

टिप्पणियां

अंतिम यात्रा नहीं सियासी दस्तावेज थी अटल जी की विदाई...

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement