NDTV Khabar

इलाहाबाद में लॉ स्‍टूडेंट की पीट-पीटकर हत्‍या के विरोध में छात्रों ने बस फूंकी

इलाहाबाद में कानून के एक छात्र की पीट-पीटकर हत्या के मामले के बाद संगम नगरी का माहौल पूरी तरह से गरमा गया है.

588 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इलाहाबाद में लॉ स्‍टूडेंट की पीट-पीटकर हत्‍या के विरोध में छात्रों ने बस फूंकी

लॉ स्टूडेंट की हत्या के विरोध में छात्रों ने बस को आग के हवाले कर दिया.

खास बातें

  1. छात्र के हत्या के विरोध में उग्र प्रदर्शन
  2. छात्रों ने एक बस को आग के हवाले किया
  3. दंगा पुलिस को भी बुलाया गया
इलाहाबाद: इलाहाबाद में लॉ स्‍टूडेंट की पीट-पीटकर हत्या के मामले के बाद संगम नगरी का माहौल पूरी तरह से गरमा गया है. 26 साल के दिलीप सरोज की रविवार को मौत हो गई थी. दिलीप की हत्या के विरोध में इलाहाबाद में विरोध प्रदर्शन उग्र रूप लेने लगा है. छात्र की हत्या के विरोध में एक बस को आग के हवाले कर दिया गया. सोमवार को छात्रों ने हत्या के विरोध में नारे लगाए और प्रदर्शन किए. इसके बाद हिंसा को नियंत्रित करने के लिए दंगा पुलिस को भी बुलाया गया है. 

यह भी पढ़ें : लॉ स्‍टूडेंट की पीट-पीटकर हत्‍या: रेस्‍तरां का वेटर गिरफ्तार, पैर टकराने की वजह से हुआ था झगड़ा

पुलिस ने इस बीच हत्या के मुख्य आरोपी विजय शंकर सिंह के ड्राइवर को भी हिरासत में लिया है. इस मामले में अब तक दो गिरफ्तारी हो चुकी है. मामले में पहली गिरफ्तारी उस रेस्तरां के वेटर मुन्ना चौहान की हुई है, जिसने दिलीप के सिर पर हॉकी स्टीक से हमला किया था. 
 
पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी विजय शंकर सिंह के ड्राइवर को भी हिरासत में लिया जा चुका है. इलाहाबाद के सहायक एसपी सुकीर्ति माधव ने कहा कि हमलोग मुख्य आरापी विजय शंकर की गिरफ्तारी के लिए अभियान चला रहे हैं और उम्मीद है कि वह बहुत जल्द ही हिरासत में होगा.

गौरतलब है कि 9 फरवरी की शाम दिलीप  (26) अपने दो साथियों के साथ कर्नलगंज स्थित एक होटल में खाना खाने गया था और वहां लग्जरी कार से आए कुछ लोगों से उसकी कहासुनी हो गई थी. इसके बाद उन लोगों ने दिलीप को लाठी डंडों से पीटकर बुरी तरह से घायल कर दिया था. जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया, 'दिलीप के भाई की तहरीर पर तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. सीसीटीवी फुटेज और इस घटना के वायरल हुए वीडियो के आधार पर मुख्य अभियुक्त के तौर पर विजय शंकर सिंह की पहचान की गई है जो भारतीय रेलवे में टीटीई के पद पर कार्यरत है. वह अभी फरार है.'

छात्र की हत्या दु:ख एवं चिन्ता का विषय : मायावती
छात्र की हत्या पर गहरा दु:ख एवं संवेदना व्यक्त करते हुए बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कहा कि शोषित-पीड़ित दलित समाज के एक होनहार एलएलबी छात्र की हत्या पूरे समाज के लिये बड़े दुःख एवं चिन्ता की बात है. इस घटना से पूरा समाज आहत हुआ है.

उन्होंने कहा, ‘‘इलाहाबाद में दलित छात्र की इस प्रकार नृशंस हत्या वास्तव में उत्तर प्रदेश के भाजपा शासन में कोई अकेली नयी घटना नहीं है, बल्कि ऐसी दर्दनाक घटनाएं लगातार घट रही हैं और इनके लिये कोई और नहीं बल्कि भाजपा की संकीर्ण, जातिवादी एवं नफरत की राजनीति पूरी तरह से दोषी है. इसके कारण ही उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में माहौल काफी अधिक दूषित हो गया है.

माकपा ने हत्या की निंदा की
मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की उत्तर प्रदेश ईकाई ने इलाहाबाद में दलित छात्र की निर्मम हत्या की सख्त निंदा करते हुए छात्र के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की और कहा कि प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद सामंती तत्वों का मनोबल इतना बढ़ गया है कि आये दिन दलितों पर क्रूर हमले हो रहे हैं. निश्चित रूप से दबंगों को कहीं न कहीं राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है.

VIDEO : छात्र की हत्या के मामले में एक आरोपी गिरफ्तार


टिप्पणियां
विधानपरिषद की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित
छात्र की हत्या और एक अखबार में समाजवादी पार्टी के खिलाफ छपी रिपोर्ट का हवाला देते हुए पार्टी सदस्यों ने प्रदेश में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विधानपरिषद में जमकर हंगामा किया और प्रश्नकाल एवं शून्यकाल नहीं चलने दिया. सदन के सभापति रमेश यादव ने पहले प्रश्नकाल की कार्यवाही को आधे...आधे घंटे के लिये दो बार स्थगित किया, बाद में शून्य काल में भी जब हंगामा नहीं टला तो सभापति ने विधानपरिषद की सोमवार की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित कर दी.

(इनपुट : एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement