बीजेपी के राज में राम और हनुमान को करनी पड़ी रामलीला मैदान की सफाई

मेरठ के रामलीला मैदान में भरे बरसात के पानी को निकालने के लिए रामलीला के किरदार राम और हनुमान को झाड़ू उठानी पड़ी.

बीजेपी के राज में राम और हनुमान को करनी पड़ी रामलीला मैदान की सफाई

मैदान में भरे बरसात के पानी को निकालने के लिए राम और हनुमान को आगे आना पड़ा

खास बातें

  • बरसात के कारण रामलीला मैदान में भरा था पानी, नहीं हुई रामलीला
  • नगर निगम से सफाई की लगाई गुहार, मगर नहीं हुई कोई कार्रवाई
  • सभासद से लेकर सांसद तक बीजेपी का राज, फिर भी राम की सुनवाई नहीं
मेरठ:

मेरठ के जिमखाना क्लब मैदान में सालों से रामलीला होती आ रही है. ये मैदान शहर के बीच इस तरह से स्थित है कि बरसात में आसपास के इलाकों का पानी इस मैदान में भर जाता है. पिछले 2-3 दिन हुई वर्षा से भी यही हाल हुआ. नतीजतन, रामलीला का मंचन पिछले 3 दिनों से बन्द है.

यह भी पढ़ें: नवरात्रि 2017: दिल्ली की रामलीला में नजर आएंगी सलमान खान की ये हीरोइन

Newsbeep

रामलीला कमेटी वालों ने नगर निगम से पानी निकलवाकर मैदान को साफ़ कराने की कई बार गुहार लगाई, मगर नगर निगम ने इसे गम्भीरता से नहीं लिया. मजबूरन रामलीला कमेटी के लोगों और कलाकारों ने मैदान को साफ़ करने का बीड़ा उठाया ताकि रामलीला का आगे मंचन किया जा सके.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: जब राम और हनुमान ने मिलकर की मैदान की सफाई अफसोस की बात ये है कि इस इलाके के सभासद और नगर निगम के मेयर बीजेपी के हैं. मेरठ के सांसद और 7 में से 6 विधायक बीजेपी के हैं. यहां तक कि प्रदेश और देश में बीजेपी की सरकार है. फिर भी राम के नाम पर राजनीति करने वाली सरकार को रामलीला का तनिक भी ख्याल नहीं आया. खासबात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता के वाहक भी बने हुए हैं. बावजूद इसके खुद राम को झाड़ू उठानी पड़ी और उनका साथ दिया उनके भक्त हनुमान ने.